TID-Logo

पहली बार गाँवों में देंगे सुपर स्पेशियलिटी सेवाएं, भरपूर लाभ उठाएं ग्रामीण : मेहता

0
(0)

– मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिरंजीवी स्वास्थ्य शिविरों का जिला स्तरीय शुभारंभ पलाना से
– 367 ग्राम पंचायतों व तहसीलों पर 31 मार्च तक लगेंगे चिरंजीवी शिविर

बीकानेर, 13 नवंबर। मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिरंजीवी स्वास्थ्य शिविरों में पहली बार ग्राम स्तर पर सुपर स्पेशलिटी चिकित्सा सेवाएं दी जाएंगी, ग्रामीण जन को चाहिए कि वे इनका भरपूर लाभ उठाएं। ऐसे महत्वाकांक्षी शिविरों के लिए स्वास्थ्य विभाग तैयारियां भी अभूतपूर्व करें। यह कहना था जिला कलक्टर नमित मेहता का, वे शनिवार को कलक्ट्रेट सभागार में मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य शिविरों की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे।

चिरंजीवी शिविरों का जिला स्तरीय शुभारंभ रविवार को पलाना में आयोजित शिविर के साथ होगा। मेहता ने बताया कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि ग्राम पंचायत स्तर पर फिजीशियन, शिशु रोग विशेषज्ञ, स्त्री रोग विशेषज्ञ, नेत्र रोग विशेषज्ञ, डेंटिस्ट व आयुष जैसे चिकित्सकों की सेवाएं एक स्वास्थ्य शिविर में मिलेंगी। साथ ही कार्डियोलॉजी, यूरोलॉजी, नेफ्रोलॉजी, न्यूरोलॉजी जैसी सुपर स्पेशलिटी सेवाएं टेलीमेडिसिन के मार्फत गांव-गांव उपलब्ध करवाई जाएंगी। वहीं 48 प्रकार की लैब जांचें भी ऑन स्पॉट करने की तैयारियां की गई हैं। सभी विद्यालयों के छात्र-छात्राओं की प्री स्क्रीनिंग कर शिविरों में स्वास्थ्य जांच करवाने के लिए शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग के आरबीएसके कार्यक्रम द्वारा समन्वित प्रयास किए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि शिविरों में लगभग सभी प्रकार की स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के प्रयास किए जाएंगे। गर्भवतियों की एएनसी जांच, टीकाकरण, कोविड टीकाकरण टीबी, एचआईवी, सिलिकोसिस व कुष्ठ रोग की जांच, साथ ही 30 वर्ष से अधिक आयु के सभी व्यक्तियों की बीपी, शुगर, 3 कॉमन कैंसर से संबंधित जांचें व उपचार के लिए स्वास्थ्य विभाग गांव में डेरा डाले रहेगा। जांच द्वारा चयनित मरीजों की आवश्यकता अनुसार मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना व राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत उच्चतर संस्थानों पर निशुल्क सर्जरी की व्यवस्था भी की जाएगी। मेहता ने इसके लिए विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती करने, सुपर स्पेशलिटी चिकित्सकों का टेलीमेडिसिन पर पैनल बनाने और कैंप संबंधी व्यवस्था करने के लिए सीएमएचओ डॉ ओ.पी. चाहर को निर्देश दिए। सुपर स्पेशलिटी स्तर पर विशेषज्ञों की उपलब्धता के लिए पीबीएम अस्पताल के अधीक्षक डॉ परमेंद्र सिरोही व जिला अस्पताल के अधीक्षक डॉ प्रवीण चतुर्वेदी को व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के लिए कहा।

जिला कलक्टर ने शिविरों का सघन प्रचार प्रसार कर अधिकाधिक ग्रामीण जनों को लाभान्वित करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलेक्टर अरुण प्रकाश शर्मा, डॉ बीएल मीणा, डिप्टी सीएमएचओ डॉ योगेंद्र तनेजा, डॉ लोकेश गुप्ता, डॉ राजेश गुप्ता, डॉ नवल किशोर गुप्ता, डीपीएम सुशील कुमार सहित प्रशासनिक व विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

यूं लगेंगे चिरंजीवी स्वास्थ्य शिविर
स्वास्थ्य विभाग द्वारा 14 नवम्बर से से 31 मार्च 2022 तक ग्राम पंचायत स्तर पर मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिरंजीवी स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया जाएगा। 367 ग्राम पंचायतों पर शिविर के साथ-साथ सभी तहसीलों पर दो मेगा शिविर भी लगाए जाएंगे। यानीकि कुल 385 शिविर लगेंगे। इनमें कैंसर, ह्रदय रोग, टीबी समेत सभी कम्यूनिकेबल-नॉन कम्युनिकेबल बीमारियों की मुफ्त जांच व उपचार की व्यवस्था होगी। प्रत्येक ब्लॉक में सप्ताह में दो या तीन कैम्प आयोजित किए जाएंगे। कैम्प में जांचों के लिए माइक्रोस्कोप, 3 पार्ट सेल काउन्टर, सेमी ऑटो एनालाइजर, ईसीजी और अन्य आवश्यक रिएजेन्ट्स उपलब्ध कराए जाएंगे। दो एंबुलेंस भी तैनात रहेंगी, जिससे आवश्यक होने पर चिन्हित रोगियों को उच्चतर चिकित्सा संस्थान में जांच और उपचार के लिए भिजवाया जा सके।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply