TID-Logo

रीट परीक्षा: रहने, बस से जाने सहित व्यवस्थाओं का देखें कार्यक्रम

0
(0)

परीक्षा केन्द्रों पर पूर्णतया वर्जित रहेंगे मोबाइल फोन, मुख्य द्वार पर परीक्षार्थियों को दिए जाएंगे मास्क

जिला कलक्टर ने फ्लाइंग स्क्वॉड प्रभारियों की ली बैठक

IMG 20210925 WA0002
IMG 20210925 WA0003
IMG 20210925 WA0004
IMG 20210925 WA0005

बीकानेर, 24 सितम्बर। राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) के लिए गठित फ्लाइंग स्क्वॉड प्रभारियों की बैठक शुक्रवार को जिला कलक्टर नमित मेहता की अध्यक्षता में आयोजित हुई।
इस दौरान जिला कलक्टर ने कहा कि रीट की परीक्षा सफलतापूर्वक आयोजित हो, इसमें फ्लाइंग स्क्वॉड की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है। परीक्षा के दौरान फ्लाइंग स्क्वॉड के सभी सदस्य अपने-अपने परीक्षा केन्द्रों के निर्धारित दौरे करेंगे और प्रत्येक स्थिति पर नजर रखेंगे। उन्होंने कहा कि परीक्षा के दौरान किसी भी परीक्षा केन्द्र पर कोई भी मोबाइल लेकर प्रवेश नहीं कर सकेगा। सभी मोबाइल फोन स्वीच ऑफ करवाकर सुरक्षित स्थान पर रखे जाएंगे। यह जिम्मेदारी संबंधित केन्द्राधीक्षक की होगी।
जिला कलक्टर ने कहा कि प्रत्येक परीक्षार्थी को परीक्षा केन्द्र में प्रवेश करते समय मास्क उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा पर्याप्त संख्या में मास्क जिला शिक्षा अधिकारी (मा.शि.) को दिए जाएं तथा जिला शिक्षा अधिकारी शनिवार दोपहर तक प्रत्येक परीक्षा केन्द्र तक यह मास्क पहुंचाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि परीक्षा व्यवस्था से जुड़े प्रत्येक कार्मिक को पहचान-पत्र जारी किया जाए तथा यह सुनिश्चित करें कि कोई भी बिना पहचान पत्र परीक्षा केंद्र पर नहीं रहे। ऐसा पाए जाने पर संबंधित केन्द्राधीक्षक जिम्मेदार होगा।
जिला कलक्टर ने कहा कि विभिन्न जिलों से आने वाली बसों के ठहराव के लिए बनाए छह अस्थाई बस स्टॉप्स पर पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था हो। यहां सभी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद रहें। पुलिस द्वारा स्टॉप्स से संबंधित नाके बनाए जाएं तथा यह सुनिश्चित करें कि बसें निर्धारित स्थानों से आगे नहीं आएं। उन्होंने कहा कि सभी अस्थाई रैन बसेरों की व्यवस्थाएं प्रभावी रहें। सभी नियंत्रण कक्ष शनिवार सुबह से कार्यशील हो जाएं।
मेहता ने कहा कि कोष कार्यालय में पैपर देने से लेकर परीक्षा केंद्र में परीक्षार्थी को वितरित किए जाने तक की समूची प्रक्रिया की लगातार वीडियोग्राफी करवाई जाएगी। परीक्षा के उपरांत उत्तर पुस्तिकाएं संग्रहण केन्द्र तक समय पर पहुंच जाए यह सुनिश्चित किया जाए। प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर पर्याप्त पेयजल उपलब्ध रहे तथा परीक्षा से सम्बंधित गाइडलाइन की पूर्ण पालना हो।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र सिंह इंदौलिया ने बताया कि प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर छह कर्मियों का सुरक्षा जाब्ता तैनात रहेगा। इनमें दो पुरूष तथा दो महिला पुलिस कर्मी एवं दो होमगार्ड मौजूद रहेंगे। भीड़-भाड़ वाले 19 चिन्हित स्थानों पर पांच-पांच का सुरक्षा जाब्ता रहेगा। आठ उप निरीक्षकों की मोबाइल टीमें शहरी क्षेत्र का लगातार राउंड लेंगी। सभी रैन बसेरों में आवश्यकता के अनुसार जाब्ता तैनात किया जाएगा। इनके अलावा 24 फ्लाइंग स्क्वाड के साथ पुलिस के प्रतिनिधि भी मौजूद रहेंगे।
जिला कलक्टर ने अस्थाई बस स्टॉप्स और रैन बसेरों की व्यवस्थाओं का किया निरीक्षण
जिला कलक्टर नमित मेहता ने शुक्रवार को रीट के मद्देनजर बनाए गए अस्थाई बस स्टॉप और रैन बसेरों का निरीक्षण किया। मेहता ने केन्द्रीय विद्यालय नं. 1, पॉलिटेक्निक कॉलेज, गंगाशहर बस स्टेंड के पीछे, लालगढ़ बस स्टेंड और वेटरनरी कॉलेज परिसर में बनाए गए अस्थाई बस स्टॉप देखे। उन्होंने कहा कि जिले में आने वाले और यहां से बाहर जाने वाले किसी भी परीक्षार्थी को बेवजह परेशानी नहीं हो तथा इन स्थानों की सभी व्यवस्थाएं सुचारू रहें, इसके मद्देनजर पूर्ण सतर्कता रखी जाए।
जिला कलक्टर ने इन अस्थाई बस स्टॉप्स पर बसों के ठहराव एवं आवागमन, रैन बसेरों में रुकने, भोजन एवं पेयजल, शौचालय आदि की व्यवस्थाओं का अवलोकन किया। साथ ही कहा कि बरसात के मद्देनजर वाटरप्रूफ टेंट लगाए जाएं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर इन अस्थाई बस अड्डों, ऑटो स्टेंड से संबंधित जानकारी से संबंधित फ्लेक्स लगाए जाएं।
इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) बलदवे राम धोजक, अतिरिक्त कलक्टर (नगर) अरुण प्रकाश शर्मा, नगर विकास न्यास सचिव नरेन्द्र सिंह पुरोहित, नगर निगम आयुक्त पंकज शर्मा, प्रादेशिक परिवहन अधिकारी ज्ञानदेव विश्वकर्मा, जिला परिवहन अधिकारी जुगल माथुर, रीट परीक्षा समन्वयक डॉ. बिट्ठल बिस्सा, रोडवेज मुख्य प्रबंधक इंदिरा गोदारा सहित विभिन्न अधिकारी साथ रहे।

केन्द्राधीक्षकों और पेपर कॉर्डिनेटर्स को दिया प्रशिक्षण

रीट परीक्षा के लिए निर्धारित 98 परीक्षा केन्द्रों के केन्द्राधीक्षकों और 25 पेपर कॉर्डिनेटर्स को शुक्रवार को बीजेएस रामपुरिया जैन कॉलेज में प्रशिक्षण दिया गया। परीक्षा समन्वयक डॉ. बिट्ठल बिस्सा ने बताया कि इस दौरान विभिन्न प्रपत्र भरने, प्रश्न पत्र खोलने, सील करने तथा परीक्षा की शुचिता बनाए रखने से संबंधित प्रशिक्षण दिया गया। इस दौरान जिला शिक्षा अधिकारी सुरेन्द्र सिंह, प्रशिक्षक भरत रामावत, संजय रॉय, प्रदीप जैन, डॉ. अनंत जोशी, बोर्ड द्वारा नियुक्त जिला पर्यवेक्षक डॉ. राकेश हर्ष तथा सतवीर वर्मा मौजूद रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply