महामारी से बचाव में विश्व का नेतृत्व करेगा भारत

बीकानेर। 30 मार्च 2020 को गुरु मकर राशि मे प्रवेश करेगा। 6 अप्रेल 2021 तक मकर राशि मे विचरण करेगा । 30 जून 2020 से 20 नवम्बर 2020 तक वक्री रहेगा । गुरु मकर राशि मे नीच का होने से मूलतः अशुभफलदायी होता है। ज्योतिषाचार्य पं. गिरवर प्रसाद बिस्सा के अनुसार इस समय अजीबो वायरस से महामारी से परेशानी, आर्थिक उथल पुथल, राजनीतिक अस्थिरता, मौसम के बाद मिजाज से प्राकृतिक आपदाओं से परेशानी का योग बन रहा है। शीर्ष नेताओं के लिए अरिष्ट दायीं है । राम मंदिर निर्माण में पक्ष और विपक्ष की कुचIलो ओर अपने अहम के कारण कुछ बाधाएं खड़ी होने से विलम्ब का योग । भारत इस महामारी से बचाव में विश्व का नेतृत्व करेगा ।

सभी राशिवालों के लिए निम्न फलदायी रहेगा –

मेष– मांगलिक कार्यो में बाधाएं, खर्च अधिक ,यात्रा योग , धार्मिक कार्यो में बाधा राजपक्ष से लाभ का योग बन रहा है

वृषभ- धन की प्राप्ति ,यश मिलेगा ,घर मे मांगलिक कार्य होंगे । राजपक्ष से पीड़ा,व्यापार सम्बन्धी पीड़ा योग है ।

मिथुन– स्वास्थ्य पीड़ा ,स्त्री सुख में बाधा ,धन हानि ,परिवार में अप्रिय घटना का योग ,खर्च अधिक ,यात्रा योग बन रहा

कर्क– मानसम्मान बठेगा ,आकस्मिक धन लाभ ,मांगलिक कार्य होंगे । शत्रुओ का जोर ,माता पिता वास्ते पीड़ा दायक है

Leave a Reply

WhatsApp Us whatsapp
Click To Join Whatsapp Group Fo Daily News Updates. whatsapp
error: CONTENT IS PROTECTED!
%d bloggers like this: