TID-Logo

हत्या का आरोपी गिरफ्तार

0
(0)

पुलिस थाना नोखा की कार्यवाही → 24 घण्टे में ब्लाइंड मर्डर का खुलासा

→ आरोपी ने टीवी सिरियल क्राइम पेट्रोल की देखादेखी कर पूर्व नियोजित योजना के आधार पर दिया वारदात को अंजाम

पुलिस कर रही है गिरफ्तारशुदा आरोपी से गहनता से पूछताछ

बीकानेर। पुलिस थाना नोखा में 30 अगस्त 2021 को शाम 4 से 5 बजे के बीच चरकडा की रोही में एक लावारिस लाश झाडियों में मिली थी। पुलिस द्वारा शव की शिनाख्त के प्रयास के दौरान परिवादी भंवरलाल पुत्र भैराराम जाति जाट निवासी साधुणा हाल राठी खेडी नोखा पुलिस थाना नोखा जिला बीकानेर के मौके पर पहुंच कर बॉडी (लाश) की शिनाख्त अपने पुत्र अर्जुन के रूप में की थी तथा अपने पुत्र की निर्मम हत्या किन किन लोगों ने की व इस हत्याकाण्ड में कौन कौन शामिल थे, अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया था। प्रकरण में अनुसंधान थानाधिकारी नोखा ईश्वरप्रसाद द्वारा शुरू किया गया।

प्रकरण की गम्भीरता को मद्देनजर रखते हुए प्रफुल्ल कुमार आईपीएस महानिरीक्षक पुलिस बीकानेर रेंज बीकानेर, प्रीति चन्द्रा आईपीएस पुलिस अधीक्षक बीकानेर के निर्देशानुसार सुनील कुमार आरपीएस अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण बीकानेर व नेमसिंह चौहान आरपीएस वृताधिकारी नोखा के निकट सुपरविजन में ब्लाइंड मर्डर की वारदात के ट्रेस आउट कर खुलासा हेतु ईश्वरप्रसाद जांगिड थानाधिकारी पुलिस थाना नोखा के नेतृत्व में थाना नोखा पर टीम गठित की गई।

खुलासा- वारदात की गम्भीरता को देखते हुए घटना को ट्रेस आउट करने के लिए गठित अलग अलग पुलिस टीम द्वारा घटना के सम्बंध में सीसीटीवी फुटेज, मृतक की कॉल डिटेल तथा अन्य संदिग्ध मोबाइल नम्बरों की कॉलडिटेल प्राप्त कर उनका विश्लेषण किया गया तथा मृतक अर्जुन के गुम होने के स्थान व उसकी लाश मिलने के स्थान के मध्य के सीसीटीवी कैमरों की गहनता से विशलेषण किया गया। संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ की गई तथा घटना के सम्बंध में मुखवीर खास से प्राप्त गुप्त सूचनाओं के आधार पर गुमशुदा अर्जुनराम की हत्या कर वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी नन्द किशोर सुथार की पहचान कर शख्स को डिटेन कर पूछताछ की गई। जिसने गुमशुदा अर्जुन कुमार की हत्या की घटना कारित करना स्वीकार किया। आरोपी नन्दकिशोर पुत्र नारायणराम जाति सुथार उम्र 27 साल निवासी विश्वकर्मा मंदिर नोखा को बाद अनुसंधान जुर्म धारा 302,201 भादस गिरफ्तार किया गया।

तरीका वारदात:- आरोपी ने पूछताछ के दौरान बताया कि मृतक अर्जुनराम उसका दोस्त है जिसके साथ उसका पिछले डेढ़ दो साल से पैसों का लेन देन चल रहा था। मृतक अर्जुन से करीब एक साल पहले 35 हजार रूपये उधार लिए थे। जिनका अर्जुन का समय समय पर किस्तों में ब्याज सहित करीब 50 हजार रूपये दे दिये थे। मगर 50 हजार रूपये दे देने के बाद भी अर्जुन मेरे से हर दिन और ब्याज के पैसे देने बाबत कहता था और मना करने पर गाली गलौच व अभद्र भाषा का प्रयोग करता था। जिसके चलते मैं मानसिक रूप से बहुत परेशान रहने लग गया था। मैं अक्सर टीवी पर क्राइम पेट्रोल टीवी सीरियल देखता था। जिसमें मैने बहुत बार किसी व्यक्ति की हत्या कर देने तथा हत्यारे का कोई पता नहीं चलने बाबत एपीसोड देखे थे। इस प्रकार के सीरियल देखने से मेरे दिमाग में भी अर्जुन से पैसे ज्यादा ले लेने तथा गाली गलोच करने का बदला लेने व उसकी हत्या करने का विचार आया। तब मौके की तलाश मे लग गया। चूकि अर्जुन मेरा अच्छा दोस्त भी था जिससे मेरी हर रोज मोबाइल पर बातें होती थी। मैं करीब पिछले दस दिन से अर्जुन से बदला लेने हेतु मौके की तलाश में लगा हुआ था। रोही ग्राम चरकडा में हमारा खेत हैं जो बिलकुल सुनसान जगह पर है तब मैंने खेत की तरफ रास्ते पर सुनसान रोही में अर्जुन की हत्या करने के लिये जगह को चिन्हित किया तथा एक लोहे का सरिया पहले से मेरे खेत के पास स्थित वैदों के खेत मे छुपा दिया। मेरी योजना के मुताबिक 26 अगस्त.2021 के दिन में मैने अर्जुन को फोन कर खेतों में घूमने चलने के लिये कहा तब अर्जुन मेरे पास गांधी चौक कस्बा नोखा अपनी मोटरसाईकिल लेकर आया तब मैं अर्जुन की मोटरसाईकिल पर बैठकर उसको रोही चरकडा भटूड मील के पीछे वैदो के खेत में ले गया। जहां अर्जुन ने मोटरसाईकिल को खड़ा कर दिया तथा हम दोनों पैदल पैदल ऊंचे टिले पर चढ़ गये। तब आगे चलते हुए अर्जुन के मैने मेरे द्वारा पूर्व मे छुपाये हुये लोहे के सरिये की सिर में चोट मारी जिससे अर्जुन नीचे गिर गया। तब मैने अर्जुन के सिर मे ओर चोटे मारी तथा उसकी हत्या कर दी तथा उसे टीले के पास में खींप के पौधों के झुरमट में छिपा दिया।

ये थे पुलिस टीम में ईश्वरप्रसाद पुनि, भोलाराम एसआई, श्रीमती मंजित कौर उनि, गोविन्दसिंह सउनि, श्रवणराम सउनि, सौभाग्य सिंह एएसआई, बलवानसिंह हैडकानि, हेमसिंह कानि, अजयसिंह कानि., गणेश गुर्जर कानि., बलवीर कानि, मूलाराम कानि., प्रेमाराम कानि शामिल थे। वहीं गोविन्दसिंह सउनि व हेमसिंह कानि. की विशेष भूमिका रही।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply