IMG 20210725 WA0020

शाना इंटरनेशनल स्कूल में संवित् गुरूकुलम संकल्प संध्या आयोजित

5
(1)

जयपुर गंगानगर बायपास स्थित शाना इंटरनेशनल स्कूल बीकानेर प्रांगण में गुरु पूर्णिमा के पावन पर्व पर शाम को संवित् गुरूकुलम संकल्प संध्या का आयोजन किया गया। संवित गुरूकुलम संकल्प संध्या के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में लालेश्वर महादेव मंदिर शिवबाड़ी बीकानेर के पीठाधीश स्वामी विमर्शानंद महाराज ने अपने आशीर्वचन में कहा कि ब्रह्मलीन महान संत स्वामी सोमगिरि महाराज की शाना इंटरनेशनल स्कूल एवं इसके संस्थापक कमलेश चंद्रा पर विशेष अनुकम्पा रही है। महाराज ने अपनी अंतिम इच्छा स्वरूप कमलेश चंद्रा सहित हम सबको आदेश फरमाया था कि वे एक ऐसे गुरूकुलम की शुभ शुरुआत करें जिसमें बच्चों को इस आधुनिक शिक्षा के साथ साथ शैक्षणिक कार्यक्रम में आत्मज्ञान को आधार बनाकर उनके आतंरिक अध्यात्म स्वरुप को प्रखर कर सकें। स्वामी विमर्शानंद महाराज ने कहा कि महाराज साहब की सदइच्छा/आदेशानुसार शाना इंटरनेशनल स्कूल के संस्थापक कमलेश चंद्रा ने महाराज साहब के पदचिन्हों का अनुसरण करते हुए संवित गुरूकुलम की शुभ शुरुवात की है इसके लिए कमलेश चंद्रा को बहुत बहुत साधुवाद। स्वामी ने कहा कि पूज्यनीय संवित सोमगिरि महाराज के समर्पित शिष्यों की संख्या बीकानेर में हजारों की संख्या में हैं जो संवित गुरुकुलम की उन्नति और उत्थान के लिए सदैव कृत संकल्प रहेंगे।इस अवसर पर कमलेश चंद्रा ने ब्रह्मलीन संवित सोमगिरीजी महाराज को नमन करते हुए प्रतिज्ञा की कि वे अपना समस्त जीवन संवित गुरूकुलम के लिये समर्पित करते हैं। फिनलैंड जैसे देश का उदहारण देकर उन्होंने बताया कि वह देश हैप्पीनेस इंडेक्स में सर्वोच्च्य स्थान पर है। वहां का क्राइम रेट सबसे निम्न स्तर पर है। कमलेश चंद्रा ने कहा कि आज के परिवेश में आधुनिक शिक्षा के साथ साथ आत्मज्ञान आधारित शिक्षा बच्चों को उच्च कोटि के आदर्श इन्सान बनाती है। महाराज साहब की इच्छा थी कि आत्मज्ञान शिक्षण पद्दति के माध्यम से बच्चे संवित गुरूकुलम में एक बेहतर प्रशासक, हाइली स्किल्ड इंजीनियर और डॉक्टर आदि बनकर इस समाज और सृष्टि के लिए उपयोगी बन सकेंगे । कार्यक्रम में पधारे विशिष्ट अतिथि प्रीति चंद्रा , एसपी बीकानेर ने अपने उद्बोधन में गंभीर चिंता जताते हुए कहा कि छोटे छोटे बच्चे आज गंभीर अपराधों में संलग्न हैं। स्कूलों में बच्चों को आधुनिक शिक्षा के साथ साथ संस्कार मूलक शिक्षा दी जानी चाहिए। संस्कारवान बच्चे ही बेहतर राष्ट्र का निर्माण कर सकते हैं इसलिए उन्होंने अभिभावकों से आग्रह किया कि अपने नौनिहालों के सुन्दर भविष्य के लिए स्कूल के चयन करने में उन्हें गहन चिंतन करना चाहिए।कार्यक्रम के सम्मानीय अतिथि समाजसेवी एवं व्यवसायी रमेश अग्रवाल (कालू) ने शाना परिवार को धन्यवाद देते हुए कहा कि बीकानेर का यह सौभाग्य है कि कमलेश चंद्रा ने इस धरा के महान संत स्वामी सोमगिरि महाराज के नाम से संवित गुरूकुलम की शुभ शुरुआत करके बीकानेर के बच्चों को बहुत बड़ी सौगात दी है। रमेश अग्रवाल ने कहा कि वर्तमान कोरोना काल में बच्चों की पढ़ाई के लिए इस तरह की शुरूआत विद्यार्थियों में नई ऊर्जा का संचार करेगी। समाज में बेहतर शिक्षा ही बच्चों के लिए नींव का काम करती है। शाना इंटरनेशनल स्कूल एवं संवित गुरूकुलम की प्राचार्या श्रीमती पुष्पलता झा ने सभी आगंतुक महानुभावों का स्वागत सत्कार किया। श्रीमती झा ने अपने उद्बोधन में कहा कि महाराज साहब की जीवन के प्रति की दी गयी शिक्षा को अपनी गुरूकुलम के बच्चों का सर्वांगीण विकास करने में वे कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगी। बच्चों ने इस अवसर पर भाव भीनी प्रस्तुतियां दी। इस अवसर पर उपस्थित समस्त अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए रामचंद्र सुंडा ने कहा कि अभिभावक अपने बच्चों को कम्फर्ट जोन से बाहर निकाल कर उन्हें संघर्ष का रास्ता दें क्योंकि जितना बड़ा संघर्ष होगा सफलता भी उतनी बड़ी होगी।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply