IMG 20210706 WA0012

कचरामुक्त बीकानेर की तरफ नगर निगम का सार्थक कदम

0
(0)

बीकानेर । नगर निगम के प्राथमिक कार्यों में से एक कचरा संग्रहण एवं स्वच्छता की ओर नगर निगम बीकानेर द्वारा उठाया गया महत्वपूर्ण कदम अब साकार होता नजर आ रहा है। कुछ माह पहले महापौर तथा निगम अधिकारियों ने मिलकर महीनों की मेहनत से घर घर कचरा संग्रहण हेतु निगम इतिहास का सबसे आधुनिक एवं बड़ा टेंडर बनाया । प्रक्रिया पूरी करने के बाद आगामी 16 जुलाई से संवेदक शहर में निविदा अनुसार कचरा संग्रहण का कार्य शुरू करेगा। आज नगर निगम में महापौर सुशीला कंवर तथा आयुक्त ए एच गौरी की अध्यक्षता में आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में संवेदक के साथ कार्य प्रारंभ करने से पूर्व नियमानुसार प्रगति रिपोर्ट तथा अन्य गंभीर विषयों पर चर्चा की गई ।

व्यवसायिक प्रतिष्ठानों का सर्वे लगभग पूरा

निविदा शर्तों के अनुसार संवेदक को नगरीय सीमा में आने वाले सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठानों का सर्वे जुलाई अंत तक पूरा करना है । यह सर्वे लगभग पूरा हो चुका है । निविदा शर्तों के अनुसार संवेदक द्वारा 16 जुलाई से कार्य प्रारंभ किया जाएगा तथा 16 अक्टूबर से नगरीय सीमा के सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठानों से कचरा संग्रहण के विरुद्ध स्वायत्त शासन विभाग द्वारा निर्धारित यूजर चार्ज लेना होगा जो की नगर निगम कोष में जमा होगा।

आवासीय परिसरों से कचरा संग्रहण होगा निःशुल्क
संवेदक के साथ हुए एमओयू के अनुसार निविदा शर्तों में फिलहाल आवासीय क्षेत्रों से यूजर चार्ज नहीं लिया जाएगा। हालांकि संवेदक द्वारा नगरीय सीमा में आने वाले सभी आवासीय क्षेत्रों का सर्वे किया जाएगा तथा इनसे कचरा संग्रहण के लिए यूजर चार्ज अगले वर्ष से लिए जाने की संभावना है।

कचरे के वजन पर होगा संवेदक को भुगतान

पूर्व में नगर निगम स्वयं कचरा संग्रहण का कार्य करता रहा है। अनुबंधित वाहनचालकों की सहायता से नगर निगम द्वारा ट्रिप एवं रूट मैप बनाकर कचरा संग्रहण किया जाता है परंतु नई निविदा के मुताबिक संवेदक को उठाए गए कचरे के वजन के अनुसार भुगतान किया जाएगा ।ऐसे में संवेदक की भी कोशिश अधिक से अधिक कचरा संग्रहण की रहेगी। इस शर्त से ज्यादा से ज्यादा कचरा उठने से शहर में जहां तहां आने वाली कचरे की समस्या से आमजन को निजात मिलेगी। प्रभावी प्रबंधन के लिए वल्लभ गार्डन डंपिंग यार्ड पर वेब्रिज का काम लगभग पुरा हो गया है जहां कचरा संग्रहण करने वाली गाड़ी का डंपिंग से पूर्व वजन किया जाएगा।

पहले दिन से शत प्रतिशत कचरा संग्रहण के लक्ष्य के साथ लगेंगे 140 वाहन

नगर निगम द्वारा तय की गई शर्तों के अनुसार संवेदक पहले दिन से ही व्यवसायिक तथा आवासीय परिसरों से घर घर कचरा संग्रहण का कार्य शुरू करेगा । वर्तमान में नगर निगम 60 वाहनों से सभी 80 वार्डों में आवासीय एवं व्यवसायिक क्षेत्रों से संग्रहण का कार्य कर रहा है। परंतु संवेदक पहले दिन से 140 से भी अधिक वाहनों से कचरा संग्रहण करेगा जिसमें आवासीय क्षेत्रों से न्यूनतम एक बार तथा व्यवसायिक क्षेत्रों से न्यूनतम दो बार संग्रहण किया जाएगा। अधिकतम के लिए कोई सीमा तय नहींकी गई है। संवेदक आवश्यकतानुसार अधिक ट्रिप करवा सकता है।

कचरे का होगा पृथक्करण
संवेदक द्वारा कचरा गीला,सूखा तथा संवेदनशील तीन अलग अलग डब्बों में संग्रहण किया जाएगा। तीनों अलग अलग श्रेणियों में संग्रहित कचरे का निपटान भी श्रेणी के अनुसार सरकार द्वारा तय मानदंडों पर किया जाएगा। इस संबंध में नगर निगम द्वारा एमआरएफ सेंटर का कार्य प्रगति पर है तथा नगर निगम और भी संभावनाओं पर कार्य कर रहा है जिससे संग्रहित कचरे का प्रभावी निपटान किया जा सके।

निविदा का बड़ा हिस्सा है आधुनिक तकनीकी पर आधारित
घर घर कचरा संग्रहण के इस निविदा का एक बड़ा हिस्सा आधुनिक तकनीकी पर आधारित होगा । सभी कचरा संग्रहण वाहनों की GPS मॉनिटरिंग की जाएगी। इसलिए संवेदक ने सभी वाहनों में GPS उपकरण लगा दिए हैं जिसकी मॉनिटरिंग हेतु नगर निगम में कंट्रोल सेंटर स्थापित किया जाएगा। इसके अलावा संवेदक द्वारा सर्वर स्थापित कर कचरे का वजन, गाड़ियों की स्थिति तथा संग्रहित यूजर चार्ज समेत अन्य सभी सूचनाएं कंट्रोल सेंटर पर लाइव रहेंगी। जिसे नगर निगम तथा संवेदक दोनों देख पाएंगे। ऐसे में किन क्षेत्रों से कचरा उठा है कहां से नही आदि सभी जानकारियां लाइव रहेंगी।

सघन एवं संकड़े क्षेत्रों में रिक्शा से उठेगा कचरा

शहर के सभी अंदरूनी सघन एवं संकडे क्षेत्रों में जहां कचरा संग्रहण हेतु वाहन नहीं जा सकते ऐसे क्षेत्रों में तिपहिया वाहन अथवा रिक्शा के माध्यम से कचरा संग्रहण का कार्य किया जाएगा। इस व्यवस्था के लागू होने से शहर के अंदरूनी हिस्सों बड़ा बाजार, पुराना शहर , तेलीवाड़ा आई व्यवसायिक क्षेत्रों में स्वच्छता की दृष्टि से बड़ा परिवर्तन देखने को मिलेगा।

मुख्य स्थानों पर हर वक्त रहेगा 1 वाहन
मुख्य बाजार एवं मुख्य स्थान जहां खुला कचरे का प्वाइंट या ऐसे स्थान जहां ज्यादा व्यवसायिक प्रतिष्ठान अथवा सब्जी मंडी होने से हर वक्त कचरा रहता है वहां पर 24 घंटे एक वाहन रहेगा ताकि खुले में कचरा न फैले एवं कचरे के ऐसे कलेक्शन प्वाइंट से भी निजात मिलेगी।

करमीसर डंपिंग यार्ड से मिलेगी मुक्ति
निविदा की शर्तों के अनुसार अब शहर का सारा कचरा वल्लभ गार्डन स्थित निर्माणाधीन एमआरएफ सेंटर से पृथक्करण एवं निपटान हेतु वल्लभ गार्डन डंपिंग यार्ड में ले जाया जाएगा। इससे शहर को गोगागेट डंपिंग यार्ड के बाद करमीसर डंपिंग यार्ड से भी निजात मिलेगी।

नगर निगम को होगा राजस्व लाभ
इस निविदा से नगर निगम हर रूप से लाभ की स्थिति में होगा। नगर निगम अपने 60 ऑटो टीपर, 3 कंटेनर सहित 2 अन्य वाहन संवेदक को किराए पर देगा जिससे लगभग हर माह 5 लाख रुपए राजस्व प्राप्ति होगी । इसके अलावा संवेदक को वाहन खड़े करने के लिए दिए गए स्थान के लिए भी किराया वसूल करेगा। इसके अलावा शुरुआत में व्यवसायिक प्रतिष्ठानों से तथा 1 साल बाद आवासीय परिसरों से मिलने वाले यूजर चार्ज से भी बड़ी राजस्व प्राप्ति होगी जिससे संवेदक को भुगतान करने में नगर निगम को अतिरिक्त आर्थिक भार का सामना नही करना पड़ेगा।

महापौर सुशीला कंवर ने बताया की बीकानेर शहर की सफाई व्यवस्था को और मजबूत एवं प्रभावी करने के उद्देश्य से यह निविदा जारी की गई थी। इसकी सभी प्रक्रियाएं अपने समय पर पूर्ण कर अब हम 16 जुलाई से कार्य को आरंभ करने जा रहे हैं। आज संवेदक से हुई चर्चा में दोनो पक्षों के महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विचार विमर्श किया गया। वाहनों की संख्या दोगुनी से भी अधिक हो जाएंगी तथा भुगतान कचरे के वजन पर होने के कारण अधिक से अधिक कचरा संग्रहण होगा । शहर की स्वच्छता मेरा प्राथमिक संकल्प रहा है। इस निविदा के लिए नगर निगम की टीम के साथ मिलकर हर छोटे से छोटे बिंदु पर ध्यान देकर कार्य किया गया है। नई निविदा से निगम पर स्वच्छता व्यवस्था के संबंध में आने वाला आर्थिक भार भी कम होगा साथ ही सफाई व्यवस्था भी और अधिक प्रभावी हो पाएगी।

आयुक्त ए एच गौरी ने बताया की निगम के अनियंताओं तथा संवेदक के साथ बैठक कर सभी तकनीकी बिंदुओं पर चर्चा की गई है। नई व्यवस्था के साथ नगर निगम और भी प्रभावी तथा शहर के हर कोने तक पहुंच कर कचरा संग्रहण कर पाएगा एवं शहर को कचरा मुक्त बनाने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम साबित होगा।

बैठक के दौरान उपायुक्त पंकज शर्मा, पर्यावरण अभियंता ओम चौधरी, यांत्रिक अभियंता उपेंद्र मीणा, स्वास्थ्य अधिकारी ओम जावा, संवेदक मेसर्स बीकानेर वेस्ट केयर (जेवी) से प्रतिनिधि राजू भाई एवं नवीन मौजूद रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply