कोरोना तूने ये क्या कर डाला…

0
(0)

कोरोना वायरस से धवस्त हुआ होटल कारोबार
बीकानेर।
चायना से कोरोना वायरस ने राजस्थान में भी अपनी मौजूदगी दर्ज करवा दी है। इटली के पर्यटक बीकानेर सहित राजस्थान की कई होटलों में ठहरे। इनमें से कोरोना वायरस से संक्रमित पर्यटकों का ठहराव यहां के होटल कारोबार को भारी पड़ रहा है। अब हालात यह है कि होटलों में कोई नई बुकिंग नहीं आ रही है। देषी-विदेषी पर्यटकों का आना रूक गया है। इससे होटल कारोबार बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। बीकानेर के गजकेसरी होटल में ठहरे इटली के पर्यटकों के दल में से एक के संक्रमित होने की जानकारी मिलने के बाद से होटल कारोबारियों में हड़कंप मच गया है। जिला प्रषासन ने जोधपुर बाइपास स्थित होटल गजकेसरी को सील कर दिया है और उसके कर्मचारियों को आइसोलेषन वार्ड में रखा है। द इंडियन डेल से हुई बातचीत में बीकानेर के होटल कारोबारियों का कहना है कि कोरोना वायरस के चलते टूरिस्ट की आवक बंद हो गई है। इससे उनके कारोबार पर पूरा ही फर्क पड़ गया है। तीन मार्च से पहले शादियों का सीजन था उससे थोड़ी राहत थी, लेकिन अब यह सीजन भी खत्म हो गया है। इसके बाद से होटलों में देषी-विदेषी टूरिस्ट की कोई नई बुकिंग नहीं आ रही है। यहां तक की होटलों में होली सीजन को लेकर गेट टूगेदर भी कैंसिल हो रहे हैं। होटल कारोबारियों का कहना है कि कोई भी विदेषी पर्यटक होटल में ठहरता है उसकी जानकारी दे रहे हैं और पूरी सावधानी बरत रहे हैं। इटली के वायरस प्रभावित पयर्टक के बीकानेर की गजकेसरी होटल में ठहरने की जानकारी मिलते ही पूरा प्रषासन हरकत में आ गया। इधर, जिला कलक्टर ने होटल, कारोबारियों, पीबीएम, पर्यटन विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक बुलाकर आवष्यक दिषा निर्देष भी दिए हैं।
होटल प्रबंधन अलाॅट नहीं करें कमरे
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं जयपुर के अतिरिक्त निदेषक ने बीकानेर, जयपुर, झुन्झुनूं, जैसलमेर, जोधपुर व उदयपुर के सीएमएचओ को निर्देष दिए हैं कि 21 फरवरी को इटली मूल के 69 वर्षीय कार्ली के सहित 23 यात्रियों का समूूूूूूूूूूूह भारत आया जो 21 से 28 फरवरी तक विभिन्न जिलों में ठहरा था। कार्ली का सेम्पल कन्फर्म जांच के लिए पुणे भेजा गया है। वर्तमान में यह रोगी आईसोलेषन वार्ड जयपुर में भर्ती है। इस दौरान उन्होंने होटल प्रबंधन के माध्यम से पाबंद करवाते हुए कार्ली के सम्पर्क में आए व्यक्तियों की जांच कर 28 दिन तक सर्विलेन्स में रखने को कहा है। साथ ही होटल के जिन कमरों में ये ठहरे थे उन्हें डिस्इन्फेक्ट करने को कहा है और आगामी आदेष तक उन कमरों को किसी को भी अलाॅट नहीं करने के निर्देष दिए हैं।
यहां यहां ठहरा था इटली पर्यटकों का दल
बीकानेर में होटल गजकेसरी, झुन्झुनूं में होटल केस्टल मडावा, जैसलमेर में होटल रंगमहल, जोधपुर के होटल पार्क, उदयपुर के होटल ट्राइडेन्ट व जयपुर के होटल रमाडा में इटली पर्यटकों का दल ठहरा था।

कोरोना वायरस के संभावित खतरे के मददेनजर बैठक कर दिए निर्देश
जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने कहा कि प्रत्येक पर्यटक को होटल में प्रवेश से पहले स्क्रीनिंग से गुजरना होगा। कोरोना वायरस के संभावित खतरे के मद्देनजर जिला कलक्टर ने राजीव गांधी सेवा केन्द्र में इस सम्बंध में बैठक आयोजित कर दिशा निर्देश दिए। गौतम ने अधिकारियों के साथ चर्चा करते हुए कहा कि जो भी विदेशी पर्यटक बीकानेर आता है, उनके आने की सूचना होटल मालिक चिकित्सा विभाग को तुरंत दे ताकि सभी पर्यटकों की स्क्रिनिंग करने के बाद ही होटल में प्रवेश दिया जा सके और इस वायरस के आगे फैलने की संभावना को रोका जा सके।
होटल कार्मिकों को 14 दिन का एकान्तवास
जिला कलक्टर ने बताया कि 22 फरवरी को होटल गजकेसरी में इटालियन पर्यटक ठहरे थे, इस दौरान इस होटल के 43 कार्मिक कार्यरत थे, उन सभी कार्मिकांे के स्वास्थ्य पर नजर रखते हुए उनकी जांच करवाई जाए। साथ ही उन्हें अपने घर में 14 दिन तक एकान्तवास में रखा जाए तथा इनकी हर तीन दिन में मेडिकल टीम द्वारा जांच करवाई जाए।
इनका कहना है-
कोरोना वायरस के चलते होटल कारोबार पर तो पूरा ही प्रभाव पड़ गया है। कोई नई बुकिंग नहीं आ रही है। वीजे भी कैंसिल हो रहे हैं। जो पहले से इंडिया आए हुए हैं वे ही दिल्ली से जयपुर, उदयपुर, जोधपुर होते हुए बीकानेर आते हैं और 15 मार्च के बाद ये भी बंद हो जाएंगे। इससे सारा ही असर हो जाएगा। शादियों का सीजन खत्म हो चुका है। अभी देषी-विदेषी कोई भी टूरिस्ट नहीं आ रहा। महज कोरोपोरेट या अन्य नौकरी पेषे वाले आ रहे है। हालत खराब है कमरे के लिए कोई पूछने ही नहीं आ रहा है। प्रेमचंद अग्रवाल, प्रमुख, होटल सागर, लालगढ़ परिसर, बीकानेर
कोरोना वायरस का असर तो पड़ ही रहा है। होटल कारोबार पर बहुत फर्क पड़ा है। हम ध्यान रख रहे हैं। कोई भी विदेषी पर्यटक आता है तो हम सी फाॅर्म भरते हैं। इससे उसकी पूरी इन्फोरमेषन संबंधित विभाग तक पहुंच जाती है। यह सारा सिस्टम आॅनलाइन है। जो होटल आॅनलाइन जुड़े हुए उनकी सूचना पहुंच जाती है कि कौनसा टूरिस्ट कौन से देष से आया है आदि आदि। कलक्टर के निर्देषानुसार यदि विदेषी टूरिस्ट होटल आता है तो सीएमएचओ को सूचित करेंगे।

अरविन्दसिंह राठौड़, होटल हरिभवन, अलखसागर रोड, बीकानेर
इटली के टूरिस्ट को लेकर बीकानेर का नाम आने के बाद से जो माहौल बना है उससे लोग एक बार तो बीकानेर आने से कतराएंगे। यह नैचुरल है कि मेरा भी कोई रिष्तेदार जयपुर जाएगा तो उसे यही कहूंगा अभी दस दिन मत जा। कई अभिभावक अपनों को बीकानेर जाने से रोकेंगे। कुल मिलाकर वायरस का इम्पेक्ट तो आएगा ही। उम्मीद है होलिका दहन के बाद कुछ सुधार आएगा।

गोपाल अग्रवाल, प्रमुख, होटल वृंदावन, स्टेषन रोड, बीकानेर

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply