7e4e4507 92c0 45c7 bfbd 8da18de1a1dd

विश्वविद्यालय की आय वृद्धि के लिए ‘एक्शन प्लान’ तैयार, ‘टीम भावना’ के साथ जुट जाएं अधिकारी
एसकेआरएयूः कुलपति की अध्यक्षता में बैठक आयोजित

0
(0)

बीकानेर, 9 दिसम्बर। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय की आय वृद्धि के लिए ‘एक्शन प्लान’ तैयार किया गया है। इसके तहत महाविद्यालयों में पेमेंट सीटें बढ़ाने, नर्सरी एवं समन्वित कृषि प्रणाली इकाईयों को और अधिक सुदृढ़ करने तथा टिश्यू कल्चर के पौधे अधिक से अधिक संख्या में तैयार करने जैसे कार्य होंगे। सभी अधिकारी ‘टीम भावना’ के साथ इसमें जुट जाएं, जिससे कृषि शिक्षा, प्रसार एवं अनुसंधान में उपलब्धियों के साथ विश्वविद्यालय की आय में भी बढ़ोत्तरी हो सके।
कुलपति ने बुधवार को विश्वविद्यालय की आय वृद्धि से संबंधित बैठक की अध्यक्षता करते कहा कि विश्वविद्यालय की सभी गतिविधियों को सुचारू रूप से संचालित करने के साथ संस्थान की आय बढ़ाना भी हमारी प्राथमिकता है। इसके लिए ‘एक्शन प्लान’ के अनुसार कार्य करना होगा। उन्होंने बताया कि महाविद्यालयों में पेमेंट सीटें बढ़ाने, गुणवत्तायुक्त बीज उत्पादन में वृद्धि, विश्वविद्यालय के विभिन्न विश्राम गृहों एवं उद्यानों तथा पाॅली हाउस एवं ग्रीन हाउस को किराए देने, उपयोग में नहीं आने कक्षों को वेयर हाउस के रूप में उपयोग करने की संभावनाएं तलाशी जाएंगी।
कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय की नर्सरी को सुदृढ़ किया जाएगा। अधिक से अधिक पौधे तैयार किए जाएंगे तथा विक्रय व्यवस्था को और प्रभावी बनाया जाएगा। नर्सरी में जल्दी लगने वाले ‘टिश्यू कल्चर’ के पौधे भी तैयार किए जाएंगे। साथ ही कृषि विज्ञान केन्द्र पर नर्सरी स्थापित की जाएगी, जिससे आय में वृद्धि हो। उन्होंने कृषि विज्ञाान केन्द्रों पर संचालित समन्वित कृषि प्रणाली इकाईयों में मछली पालन, मुर्गी पालन आदि को बढ़ावा देने की बात कही। उन्होंने खेजड़ी के पौधे अधिक से अधिक संख्या में तैयार करने के निर्देश भी दिए।
कुलपति ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा तैयार मूल्य संवर्धित उत्पादों, आदानों आदि के विक्रय के लिए आउटलेट स्थापित किया जाएगा। श्रीगंगानगर में सेल्फ फाइनेंस मोड पर कृषि व्यवसाय प्रबंधन संस्थान खोलने के चालू करवाने के प्रयास होंगे। विश्वविद्यालय के मशीनरी परीक्षण एवं प्रशिक्षण केन्द्र पर ‘कस्टम हायरिंग सेंटर’ को क्रियाशील किया जाएगा, जिससे किसानों को लाभ हो और विश्वविद्यालय की आमदनी बढ़े। विशेषाधिकारी इंजी. विपिन लढ्ढा ने आय वृद्धि की दिशा में अब तक के प्रयासों के बारे में बताया। बैठक में कुलसचिव कपूर शंकर मान, वित्त नियंत्रक बी. एल. सर्वा सहित डीन-डायरेक्टर मौजूद रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply