Screenshot 20201205 180107 Drive

कैंसर से विकृत हुए होंठ का कोठारी हाॅस्पिटल में पुनर्निर्माण

0
(0)

बीकानेर 05 दिसम्बर । कोठारी अस्पताल में कैंसर रोग के कारण क्षतिग्रस्त हुए होंठ का पुनर्निर्माण का ऑपरेशन सफलतापूर्वक किया गया । कोठारी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डाॅ. ओ.पी. श्रीवास्तव ने बताया कि जालवाली घड़साना श्रीगंगानगर निवासी 70 वर्षीय गिरधारी लाल कई वर्षों से होंठ के कैंसर रोग पीड़ित था जिसके कारण निचला होंठ क्षतिग्रस्त हो गया।  इसके चलते मरीज को खाने एवं पीने में परेशानी हो रही थी । मरीज ने अस्पताल में मुंह एवं गला कैंसर रोग विषेशज्ञ डाॅ. गुरूप्रीत सिंह गिल से परामर्ष हेतु सम्पर्क किया । मरीज का ऑपरेशन के दौरान निचले होंठ को निकालकर कैंसर से पूर्णतया साफ किया गया एवं तदुपरान्त माईक्रोवास्कुलर पद्धति से होंठ का पुनर्निर्माण प्लास्टिक सर्जरी द्वारा किया गया। मरीज अबः पुर्णतः स्वस्थ है । अस्पताल के वरिष्ठ नाक कान एवं गला रोग विषेशज्ञ डाॅ. अजित सिंह एवं डाॅ. पुष्पेन्द्र शेखावत ने बताया कि बीकानेर के चिकित्सा इतिहास में एक बड़ी उपलब्धी है । डाॅ. गुरूप्रित सिंह गिल ने बताया कि इससे पहले इस प्रकार के जटिल कैंसर के उपचार हेतु रोगियों को दिल्ली, मुम्बई अथवा जयपुर जैसै शहरों में जाना पड़ता था । अब बीकानेर में कोठारी अस्पताल में इस प्रकार के ऑपरेशन की सुविधा नियमित रूप से उपलब्ध है। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डाॅ. ओ.पी. श्रीवास्तव ने बताया कि टाटा कैंसर होस्पीटल मुम्बई से मुंह एवं गले के जटिल ऑपरेशनों का प्रशिक्षण प्राप्त डाॅ. गुरूप्रीत सिह गिल की सेवाएं कोठारी अस्पताल में नियमित रूप से उपलबध है । डाॅ. अजित सिंह राठौड, डाॅ. पुष्पेन्द्र शेखावत के सहयोग से कैंसर सर्जन डाॅ. गुरूप्रीत सिंह गिल एवं प्लास्टिक सर्जन डाॅ. अक्षत वहल तथा डाॅ. सतनाम अरोडा़, प्रीति राठौड़, रामकुमार चौधरी, मदुला व्यास, विरेन्द्र सिंह एवं नारायणदास सोनगरा द्वारा इस ऑपरेशन में पूर्ण सहयोग दिया गया ।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply