कोरोना से जुड़ी अफवाहें और भ्रांतियां वायरल की तो होगी राजस्थान एपिडेमिक एक्ट के तहत कार्रवाई

0
(0)

– नागरिको से संजीदगी दिखाते हुए नैतिक जिम्मेदारी निभाने की अपील

बीकानेर, 03 नवंबर। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स और व्हाट्सएप ग्रुप पर पिछले कुछ दिनों से असामाजिक तत्वों द्वारा भय व्याप्त करने की नीयत से बीकानेर में कोरोना संक्रमण से जुड़े भ्रामक और आधारहीन मैसेज वायरल किए जा रहे हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बी एल मीना ने कहा कि ऐसे मामलों को गंभीरता सेे लेते हुए संबंधित के विरुद्ध नियमानुसार सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।
       डॉ मीना ने बताया कि गत दिनों सोशल मीडिया तथा व्हाट्सएप ग्रुप पर कोरोना संक्रमण के सम्बंध में भ्रामक व तथ्यहीन संदेश वायरल किया जा रहा है। इस तथ्यहीन व गलत मैसेज के माध्यम से यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि बीकानेर में कोरेना स्टैज 3 में पहुंच चुका है तथा सीधा फेफड़ों पर अटैक करने के कारण यहां मौतों की संख्या अधिक है। साथ ही इस भ्रामक संदेश में पीबीएम अस्पताल में आक्सीजन की भी पूरी व्यवस्था नहीं होने व पलंग की भी कमी जैसी गलत बातें फैलाई जा रही है। इस मैसेज में असंवेदनशीलता पूर्वक बिना किसी प्रमाण के कोरोना संक्रमण की स्थिति के बारे में अतार्किक व  आधारहीन बातें शेयर की गई है।
     डॉ मीना ने बताया कि यह मैसेज पूरी तरह से गैर कानूनी, अवैज्ञानिक और तथ्यहीन है। बिना किसी वैज्ञानिक, चिकित्सकीय और तथ्यात्मक प्रमाण के कुछ समाजकंटको द्वारा गैर जिम्मेदाराना रूप से केवल डर फैलाने के उद्देश्य से इस मैसेज को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स व व्हाट्सऐप ग्रुप में शेयर किया जा रहा है। यह पूरी तरह अस्वीकार्य है। जबकि किसी भी प्रमाणित अध्ययन में कोरोना के स्टेज 3 या 4 जैसी बात नहीं कही गई है। यह बेबुनियादी व भ्रामक जानकारी है। डॉ मीना ने बताया कि जिन्होंने भी इस मैसेज अथवा ऐसे ही किसी अन्य मैसेज को किसी भी ग्रुप में या व्यक्तिगत रूप से शेयर किया हों वे तुरंत प्रभाव से अपना मैसेज हटाएं और किसी भी स्थिति में इसे या ऐसे किसी भी अन्य मैसेज को आगे फॉरवर्ड ना करें।
होगी कड़ी कार्यवाही
    सीएमएचओ ने कहा कि यदि किसी व्यक्ति द्वारा ऐसे मैसेज फॉरवर्ड करते हुए पाया गया तो संबंधित के विरुद्ध महामारी राजस्थान महामारी एक्ट 2020, आईटी एक्ट व अन्य कानूनी प्रावधानों के तहत सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स या व्हाट्सएप ग्रुप में इस तरह के मैसेज फॉरवर्ड होते पाए गए तो ग्रुप एडमिन को जिम्मेदार मानते हुए भी कार्रवाई की जाएगी।

       सीएमएचओ ने बताया कि बीकानेर में कोरोना वायरस संक्रमण रोकथाम के लिए बचाव , जांच और उपचार सहित संबंधित सभी आवश्यक इंतजाम चाक-चैबंद है। अक्टूबर माह में बीकानेर में कोविड 19 से से कम मृत्यु हुई है। एक गंभीर और संवेदनशील नागरिक के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए ऐसी अफवाहों से बचें और दूसरे लोगों को भी ऐसी अफवाह ना फैलाने के लिए प्रेरित करें।


How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply