जीएसटी कम हुआ तो दो पहिया वाहन कारोबार को मिल जाएगी प्राणवायु

0
(0)

बीकानेर। आगामी कुछ दिनों में टू-व्हीलर्स सस्ते हो सकते हैं। सरकार इस पर लगने वाले मौजूदा जीएसटी 28 प्रतिशत को कम करने पर विचार कर रही है। केन्द्रीय वित मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बारे में कुछ संकेत तो दिए हैं। वित मंत्री के इस संकेत पर द इंडियन डेली ने कुछ कारोबारियों की राय जानी कि दो पहिया वाहन कारोबार पर क्या असर पड़ेगा तो उन्होंने बताया कि यदि सरकार जीएसटी कम करती है तो दो पहिया वाहन कारोबार को तो जैसे प्राणवायु मिल जाएगी। डूडी होंडा के मैनेजर दीपक कपूर कहते हैं कि पिछले साल फेस्टिव सीजन में हमने जहां 150 गाड़ियां सेल की थी वहां इस साल 75 भी नहीं बेची। कारोबारियों का कहना है कि राजस्थान में पेट्रोल सबसे महंगा है। आरटीओ महंगी है। इंश्योरेंस महंगी है। ऐसे में यदि जीएसटी की दरें कम होती है तो इस इंडस्ट्री के लिए एक बड़ा राहतकारी कदम होगा। कारोबारियों का कहना है कि यदि पेट्रोल के दाम कुछ कम हो जाए तो भी हमें राहत मिल सकती है वरना इस साल तो हालात बेहद नाजुक है। कारोबारियों का कहना है कि बीएस-6 वाहन बहुत महंगे हैं। जिस मार्केट में एक लाख की कार लाने की बातें हो रही थी वहां एक स्कूटर एक लाख का हो गया है। इतने महंगे वाहन होने पर ग्रोथ तो प्रभावित होगी ही।  
इनका कहना है
अभी बीएस 6 के प्राइस बहुत ज्यादा है। मार्केट नेगटीव एरिया में है। यदि जीएसटी 14 प्रतिशत के आसपास हो तो बेहतर रहेगा। इससे इंडस्ट्री को ग्रोथ मिलेगी। वरना अभी 50 प्रतिशत की डी-ग्रोथ है। जीएसटी कम हो तो फाइनेंस मार्केट भी अप होगा।
– विजय डूडी, डूडी होंडा, जैसलमेर रोड
जीएसटी दस फीसदी तो कम होना ही चाहिए। इससे आॅटोमोबाइल इंडस्ट्री में जान आ जाएगी। मार्केट 15 से 20 फीसदी बूस्ट हो जाएगा। आॅटोमोबाइल सेक्टर में टू-व्हीलर्स सेगमेंट में अभी 25 से 30 प्रतिशत की डी ग्रोथ है। इसकी वजह महंगी बीएस-6 व लाॅकडाउन को कह सकते हैं।
– राम रतन धारणीया, राजाराम धारणीया आॅटोमोबाइल्स, गोगागेट
अभी दो पहिया वाहनों पर 28 फीसदी जीएसटी लग रहा है और जो संकेत मिल रहे हैं उसके हिसाब से 18 फीसदी हो सकता है। इससे प्रत्येक मोटर साइकिल कम से कम 4 से 5 हजार सस्ती हो सकती है। जो इस इंडस्ट्री को बूस्ट करने में सहयोग कर सकती है।
– सुधीश शर्मा, सीए
 दुपहिया वाहन सेक्टर को जिंदा रखने के लिए कम से कम दस फीसदी जीएसटी तो कम होना ही चाहिए। बीएस 6 वाहनों की कीमतों में लगभग 15 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। जीएसटी कम होने से कीमत में कमी आएगी। जिससे बिक्री बढ़ने के पूरे आसार रहेंगे। वरना पिछले साल की तुलना में इस साल लगभग 30 फीसदी सेल में मंदा है। इस स्थिति से मुकाबला करना बहुत ज्यादा चैलेंजिंग होगा।
– अशोक धारणीया, धारणिया आॅटोज, जैसलमेर रोड

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply