IMG 20220905 WA0029

राजस्थान में निवेश करने वालों को हर संभव मदद देगी सरकार-धीरज श्रीवास्तव

0
(0)

जयपुर में इन्वेस्टर्स मीट 7 व 8 अक्टूबर को

प्रवासी राजस्थानियों को सौंपा जा सकता है सरकारी अस्पतालों के रखरखाव का जिम्मा

बीकानेर । राजस्थान फाउंडेशन के कमिश्नर धीरज श्रीवास्तव ने कहा है कि राजस्थान सरकार राज्य में समाज सेवा संबंधी कार्य करने और निवेश करने वाले उद्योगपतियों को हर संभव सहायता उपलब्ध करवाएगी। वे 7 व 8 अक्टूबर को जयपुर में होने वाले इन्वेस्टर्स मीट के संदर्भ में आयोजित वेबीनार में उद्योगपतियों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने बताया कि इस इन्वेस्टर्स मीट देश विदेश से अनेक उद्योगपति हिस्सा लेंगे। उन्होंने उम्मीद जताई कि इस सम्मेलन के बाद केवल देश ही नहीं पूरी दुनिया में राजस्थान की एक अलग पहचान बनेगी। उन्होंने बताया कि अब तक 14 लाख करोड़ से अधिक के निवेश के एमओयू पर हस्ताक्षर हो चुके हैं इनकी घोषणा सम्मेलन के दौरान की जाएगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आमतौर पर सम्मेलन के दौरान एमओयू तो बहुत साइन होते हैं मगर धरातल पर कुछ नहीं होता, लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। इसबार जो एमओयू साइन होंगे उनका परिणाम भी नजर आएगा।
पश्चिम बंगाल में राजस्थान सरकार के प्रतिनिधि राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सहायक निदेशक एवं सूचना केन्द्र कोलकाता के प्रभारी हिंगलाज दान रतनू के संयोजन में आयोजित इस वेबीनार में कोलकाता के अनेक उद्योगपतियों ने अपने विचार रखे। गंगामिशन और अग्रबंधु संस्थान के प्रह्लाद राय गोयनका ने बीकानेर में सिरेमिक उद्योग लगाने के संबंध में एक बड़ी बाधा प्राकृतिक गैस की उपलब्धता के संबंध में सवाल किये। उन्होंने जानना चाहा कि बीकानेर में गैस पाइप लाइन का काम कहां तक पहुंचा है। इस पर धीरज श्रीवास्तव ने बताया कि राजस्थान सरकार और रीको बीकानेर में सिरेमिक उद्याोग को प्रोत्साहन देने की दिशा में लगातार प्रयासरत है। उद्योगपति अशोक अग्रवाल ने कहा कि केवल एमओयू साइन होने से कुछ नहीं होगा। हकीकत में उद्योग शुरू होने चाहिए। जैन इंडस्ट्री एंड ट्रेड ऑर्गनाइजेशन के गणपत चौधरी ने सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि उनके संगठन के अधिकांश सदस्य राजस्थान से ही हैं, वे राजस्थान में उद्योग स्थापित करना चाहते हैं, उन्होंने कहा कि वे संगठन के सदस्यों को सम्मेलन में भाग लेने के लिए प्रेरित करेंगे। व्यवसाई के सी मालू ने कहा कि जो प्रवासी राजस्थानी राजस्थान में अस्पताल धर्मशाला आदि बनवाना चाहते हैं उन्हें सरकार की ओर से पर्याप्त सहयोग मिलना चाहिए। उन्होने सुझाव दिया कि सरकारी अस्पतालों के रखरखाव और साफ – सफाई का जिम्मा भी प्रवासी राजस्थानियों को सौंपा जा सकता है। लोक संस्कृति के संदीप गर्ग ने राजस्थान फाउंडेशन की ओर से किये जा रहे कार्यों की सराहना की। वेबीनार में प्रवीण टांटिया, महावीर चौधरी, किशन राठी ने भी अपने विचार व्यक्त किये। पश्चिम बंगाल में राजस्थान सरकार के प्रतिनिधि सूचना केन्द्र कोलकाता के प्रभारी हिंगलाज दान रतनू ने वैबीनार में भाग लेने वाले सभी उद्योगपतियों का आभार जताया, उन्होने उद्योगपतियों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply