Picsart 22 06 08 11 57 33 337

सेवादल की विचारधारा को सार्थक करती थी गोकुल बाबा की कार्यशैली – कल्ला

0
(0)

बीकानेर । कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व मजदूर नेता के रूप में प्रसिद्व बीकानेर व भीलवाड़ा के मांडल के पूर्व विधायक स्वतंत्रता सेनानी व कांग्रेस पार्टी के धरोहर स्व गोकुल प्रसाद पुरोहित की 36 वीं पुण्यतिथि पर बीकानेर शहर कांग्रेस सेवा दल एवं असंगठित कामगार कर्मचारी कांग्रेस बीकानेर के तत्वावधान में श्रद्वांजलि सभा का आयोजन कर उनको नमन किया । देर रात तक सेवादल के शहर कार्यालय में आयोजित इस कार्यक्रम में शहर के अनेक प्रबुद्ध लोगों के साथ साथ सेवादल के सेवादारों ने उनके तैलचित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया। वहीं उनके सानिध्य में कार्य कर चुके वक्ताओं ने उनसे जुडे संस्मरण सुना कर उपस्थित जन मानस को उनकी पहचान कराई। अपनी बात रखते हुए सेवादल के वरिष्ठ नेता शिवशंकर हर्ष ने कहा कि यह मेरा सौभाग्य रहा कि मैने राजनीति की बारीकियां उनसे ही सीखी हें। वे ही एक मात्र ऐसे नेता थे जिन्होंने उस जमाने के जन नेता मुरलीधर व्यास से लोहा ही नहीं लिया वरन बीकानेर सीट काफी अर्से बाद कांग्रेस की झोली में डाली। गुणी होने के साथ साथ गोकुल जी दबंग नेता थे। ऐसी शख्सियत को पार्टी कभी भूला नहीं सकती।

कांग्रेस सेवादल के प्रदेश उपाध्यक्ष कमल कल्ला ने अपनी बात शुरु करते हुए कहा कि यह उस दौर की बात है जब मैं बाल्य अवस्था में था, पर हमारे बुजुर्गो से उनके बारे मे खूब सुना है । सही मायने में देखा जाए तो उनकी कार्यशैली ही कांग्रेस सेवादल की विचारधारा को सार्थक करती है एवं आज के इस युग में कांग्रेस को सही मायने में ऐसे नेता ही उभार सकते हें। कल्ला ने कहा कि आज तो सोशल मीडिया का युग है , आप कल्पना कीजिए कि उस दौर मैं कैसे एक शख्स भीलवाड़ा से बीकानेर आया और उन विषम परिस्थिति में अपने आप को स्थापित किया और विधानसभा चुनाव भी जीता । यह अनुकरणीय है। सेवादल, बाबा के बताए सेवा और संघर्ष के रास्ते पर चलता रहेगा । कार्यक्रम में असंगठित कामगार कर्मचारी कांग्रेस बीकानेर के जिला अध्यक्ष जा़कीर नागौरी ने कहा कि गोकुल प्रसाद ही सच्चे समाजवादी विचारधारा को सार्थक करते थे। उन्होंने कभी भी जातिवाद का जहर नही घोला वरन किसी भी जाति का मजदूर पहुंचा उनके पास तो उसकी मदद की। तभी उस जमाने में तांगा चलाने वाले चाहे वो हिन्दू हो या मुस्लिम बाबा को कहीं भी जाना हो उनसे दो रुपये ही लेते थे।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष व रेलवे कर्मचारी संघ के नेता अनिल व्यास ने अपने उद्वबोधन में अपने पिता और गोकुल प्रसाद के घनिष्ठ संबन्धों का जिक्र किया। व्यास ने कहा कि मैने जब दसवीं कक्षा पास की और उनके पास गया और कहा कि मुझे नौकरी लगवाओं, तो उन्होंने तत्परता दिखाते हुए मुझे अपने साथ तांगे में बिठाकर पी डब्लु डी के दफ्तर ले गये और उसी वक्त नौकरी लगवा दी। उनको जब भी कभी कोई विशेष मंत्रणा करनी होती थी तो मेरे पिताजी के साथ बैठकर घंटो चर्चा करते थे। कांग्रेस नेता विजय कुमार व्यास ने अपने विचार रखते हुए उनको सच्चा मजदूर नेता व ट्रेड यूनियनों का जनक व सच्चा हितैषी बताया। विचारों के इस क्रम में रईश अली एम जहांगीर सहित कई वक्ताओं ने अपने विचार रखें।

कार्यक्रम का संचालन श्याम रंगा ने किया। वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नरसिंह दास व्यास, जाकिर नागोरी , जहांगीर मो , एन डी कादरी , अकरम नागोरी ,एड. असलम , आशा स्वामी , एड. शमशाद , इन्द्रजीत राठौड़ , मनोज गहलोत , महबूब रंगरेज , धनसुख आचार्य , पार्षद हा़जी अस्लम , नजरुल इस्लाम, जितेन्द्र बिस्सा , मोहित बिस्सा, मदन बोहरा, मनोज कल्ला , दिनेश जोशी व रविन्द़ आचार्य महाकाल के साथ साथ सेवादल व असंगठित कामगार कर्मचारी कांग्रेस के कई साथी वह शहर के प्रबुद्म लोगो ने कार्यक्रम में सहभागिता निभाई।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply