Picsart 22 04 23 18 23 20 449

चारे की कालाबाजारी व अवैद्य भंडारण रोकने के लिए कठोर कानून बनाएं

0
(0)

बीकानेर । गौशालाओं की विविध समस्याओं को लेकर बीकानेर गौशाल संघ ने आज तुलसी सर्किल पर आम सभा का आयोजन किया गया इस अवसर पर सभी वक्ताओं ने एक सुर में कहा कि चारे के भाव दिनों दिन बढ़ते जा रहे हैं। सरकार अति शीघ्र भावों को कंट्रोल करें अन्यथा मजबूरन आंदोलन करना पड़ेगा आज बीकानेर जिले में 15-20 स्थानों पर व भट्टा, गिट्टी, फैक्ट्रियों में लाखों टन चारे का स्टॉक किया हुआ है उस स्टॉक के कारण से बीकानेर जिले का चारा महंगा हो गया है। उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए और गौवशं के लिए आवश्यक वस्तु अधिनियम व खाद्य सुरक्षा अधिनियम लागू किया जा ए।

इस महती बैठक में बीकानेर गौशाला संघ के अध्यक्ष सूरजमालसिंह नीमराना ने बताया कि जयपुर में गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया गोपालन व गौशाला संचालक से संबंधित मांगों को लेकर बैठक की। इस अवसर पर गोपालन मंत्री के निर्देश पर कल 22 अप्रैल 2022 को जयपुर में गोपालन निदेशालय जयपुर के निदेशक डॉ. लालसिंह व उनकी टीम डॉ. मुकल मित्तल, डॉ. तपेस माथुर, डॉ. प्रवीण, डॉ. जुनेजा आदि के साथ गौग्राम सेवा संघ राजस्थान के प्रतिनिधि मंडल के साथ गौशालाओं के विभिन्न मांगों पर गहनता से विचार विमर्श किया तथा सभी मांगों को एक-एक करके प्रस्तुत किया। कई मांगे पर सकारात्मक रूप से लेते हुए उसमे तुरंत आदेश जारी किए गए।

प्रतिनिधि मंडल ने वर्तमान में चारे की कालाबाजारी व अवैद्य भंडारण रोकने के लिए कठोर कानून बनाने की मांग भी की गई। बैठक में वर्तमान में जनवरी फरवरी-मार्च 2022 के अनुदान हेतु आवेदन करने वाली नई गौशालाओं में से 50 गौशालाओं को सर्वे ना होने के कारण अनुदान से बाहर कर दिया तथा ऑफलाइन आवेदन करने वाली गौशालाओं के विषय में विस्तार से चर्चा की गई सर्वे रिपोर्ट, प्रपत्र पांच टेग रजिस्टर की कॉपी, निरीक्षण रजिस्टर फोटो प्रति आदि मंगवा कर उन्हें अनुदान में सम्मिलित करने की प्रक्रिया प्रारंभ की गई।

प्रतिनिधि मंडल की मांग पर गोपालन निदेशक ने बताया की नर गोवंश को नं दी शाला की तरह 9 माह के अनुदान व राहत पैकेज की चिट्ठी उच्चाधिकारियों को प्रेषित की जा चुकी है तथा जनवरी फरवरी-मार्च का बजट आवंटित होने की जानकारी दी गई। बैठक के दौरान संगठन की मांग पर सभी जिला स्तरीय गोपालन समिति को 15 दिवस के अंदर गोपालन समिति की बैठक करवा कर राशि वितरण करने के आदेश भी जारी किए जा रहे है। वर्तमान में चा रे की जमाखोरी करने वालों के खिलाफ राज्य स्तर पर बड़ा एक्शन लिया जाए गा। इस हेतु कठोर कानून बनाने के लिए भी एक पत्र विभाग की तरफ गोपालन मंत्री राजस्थान व राज्य स्तरीय गोपालन समिति को प्रेषित किए जाने की जानकारी निदेशक ने प्रतिनिधि मंडल को दी।

बीकानेर जिले की लड्डू गोपाल गौशाला को ब्लैक लिस्ट से बाहर करने की प्रक्रिया प्रारंभ करने की जानकारी दी। गोशाला विकास योजना की शेष बची फाइलें जिन्होंने अपना ऑब्जक्शन रिमूव करवा दिया है, उन सब की राशि का आवंटन भी इस महीने हो जाएगा। बैठक में संगठन की पहल पर लगभग सभी तरह की मांगों पर आपसी सहमति बनी है सभी मांगों का निस्तारण विभाग व राज्य स्तर पर करने का आश्वासन गोपालन निदेशक ने दिया है।

गोपालन निदेशक व गोपाल मंत्री के साथ बैठक में गौग्राम सेवा संघ राजस्थान के प्रदेशाध्यक्ष ललित दाधिच, कार्यकारी अध्यक्ष सूरजमालसिह नीमराना, प्रदेश उपाध्यक्ष हनुमानसिंह पालवास आदि ने भाग लिया। आज की बैठक में विचार रखते हुए संगठन के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेश कुमार जोशी ने कहा कि यदि सरकार ने अति शीघ्र इस पर अंकुश नहीं लगाया तो संगठन क ड़े आंदोलन की चेतावनी देता है।

आज की महत्वपूर्ण बैठक में जगदीश राजपुरोहित, भैरा राम रोज, रामेश्वर जी गोदारा, हजारी जी मंडा, हजारी पिथरासर, भंवर लाल जी, हनुमान जी झाड़ेली, जगदीश स्वामी, सत्यनारायण स्वामी, डूं शंकर जी पारीक खाजूवाला, भंवरलाल कुंडलिया, हनुमान सिंह जी भाटी, लाल सिंह राजपुरोहित, देवीलाल, भैराराम नाई, प्रयाग जी चांडक, आदि के साथ नोखा, लूणकरणसर, खाजूवाला, छतरगढ़, दंतोर, बीकानेर, श्री डूंगरगढ़, कोलायत क्षेत्र की गौशालाएं सम्मिलित हुई, बैठक की अध्यक्षता स्वामी सुखदेव जी महाराज ने की, बैठक का संचालन महेंद्र सिंह लखासर ने किया।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply