Picsart 22 04 13 13 54 48 436

पाँच ग्रहों का एक माह में राशि परिवर्तन मचाएगा उथल-पुथल मई जून में बर्फबारी का योग

0
(0)

बीकानेर । अप्रैल माह में सूर्य ,मंगल , गुरु ,शनि और राहु का एक साथ राशि परिवर्तन कुछ बड़े बदलाव का सूचक है । ज्योतिषाचार्य पं गिरवर प्रसाद बिस्सा के अनुसार पूरे विश्व मे अवसाद ओर अविस्मरणीय घटनाएं घटेगी । राजनीति के क्षेत्र में अस्थिरता का माहौल । कुछ देशों में सत्ता परिवर्तन । भारत सहित तीन राष्ट्राध्यक्षो की क्षति का योग ।

बिस्सा के अनुसार विश्व की महाशक्तियों में टकराव की स्थिति और छोटे देशों के लिए अपने अस्तित्व को बचाना प्राथमिकता हो जाएगी । कुछ देश अपने अस्तित्व को खो दे।
विश्व में आर्थिक संतुलन बनाने के सभी प्रयास असफल रहेंगे । महंगाई अपने चरम पर होगी । सभी देशों की करन्सी में गिरावट आएगी । विशेष रूप से रुपये का अवमूल्यन तेजी से होगा ।
सामाजिक और धार्मिक उन्माद अपने चरम पर होगा । धर्म को लेकर आपसी वैमनस्य का वातावरण पैदा होगा ।

प्राकृतिक आपदाओं का योग बन रहा है भूकम्प आदि सुनामी का योग । मौसम अपनी नई करवट लेगा। मई जून में बर्फबारी का योग । मौसम के बदमिजाज के कारण आमजन ओर सरकार को परेशानी का सामना करना पड़ेगा ।

जैसा कि पिछली पोस्ट में बताया था कि जून 2024 तक कोरोना हर चार माह के अंतराल से रूप परिवर्तन करके तांडव मचाएगा । अभी जुलाई तक शासन प्रशासन और आम जन को सावधान रहना जरूरी है ।
कुल मिलाकर जुलाई 2022 के समय परीक्षा की घड़ी साबित होगा ।

गुरु ,शनि और राहु हमारे जीवन मे लंबे समय तक अपना अच्छा या बुरा प्रभाव डालते है परंतु इस बार तीनो का एक साथ राशि परिवर्तन मिश्रीत फलदायी रहेगा । अतः सभी राशिवालों के लिए शुभ अशुभ दोनो फल जीवन मे घटित होंगे ।
व्यक्तिगत जातक की कुंडली मे राहू, गुरु,शनि की स्थति के अनुसार ही सार्थक निर्णय लिया जा सकता हैं ।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply