Picsart 22 02 22 17 39 49 920

देश के लिए मरना नहीं, जीना ज़रूरी: बिट्टा

0
(0)

*आरएसवी में “राष्ट्र, सुरक्षा और हम” व्याख्यान में गरजे बिट्टा*, कहा देशभक्ति बने फैशन

बीकानेर । जयनारायण व्यास कॉलोनी स्थित आरएसवी शिक्षण समूह द्वारा “राष्ट्र, सुरक्षा और हम” विषयक व्याख्यान में बतौर मुख्य वक्ता शिरकत करते हुए एंटी टेरेरिस्ट फ्रंट के अध्यक्ष मनिंदरजीत सिंह बिट्टा ने कहा कि देश के लिए मर मिटने जितना ही ज़रूरी है देश के लिए जीना और अपने समस्त कर्त्तव्यों का पालन करना। बिट्टा ने कहा कि जब व्यक्ति देश और समाज के लिये जीवन जीने लगता है तो उसका स्वयं का कल्याण खुद-ब-खुद ही हो जाता है। उन्होंने कहा कि जब प्रत्येक व्यक्ति देश के लिए जिएगा और अपनी ड्यूटी का पालन करेगा तो यही सबसे बड़ी देशभक्ति कहलाएगी। बिट्टा ने कहा कि जिस दिन देशभक्ति और राष्ट्र कल्याण फैशन बनेगा, उसी दिन भारत एक अद्भुत विकसित देश के रूप में प्रतिष्ठित हो पाएगा। बिट्टा ने देश के लिए शहीद हुए जवानों की यशगाथा, समाज में अनुकरणीय कार्य करने वालों के भावुक उदाहरण देते हुए राष्ट्रभक्ति के महत्त्व को रेखांकित किया। विद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा राष्ट्रभक्ति, आतंकवाद इत्यादि पर पूछे गए विभिन्न प्रश्नों का उत्तर बिट्टा ने बड़े ही जोशीले अंदाज में दिया। उपस्थित सभी गणमान्य व्यक्तियों, अभिभावकों एवं विद्यार्थियों को बिट्टा ने जाति, लिंग, प्रान्तवाद एवं राजनीति से उपर उठकर राष्ट्रहित में समर्पित होने की सपथ दिलवाई।

IMG 20220222 WA0035

आरएसवी समूह के सीईओ आदित्य स्वामी ने संस्थान का परिचय देते हुए कहा कि गत साठ सालों से शिक्षा के जगत में संस्कार निर्माण के लिए आरएसवी कटिबद्ध है। उन्होंने संस्था की विशेषताओं, इंटरेक्टिव पैनेल्स से शिक्षण और संस्था के विविध प्रकोष्ठों की जानकारी दी। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि वरिष्ठ एडवोकेट राजेश लदरेचा ने कहा कि जब तक युवा वर्ग में देश हित के लिये जुनून नहीं जागेगा, तब तक समाज में बदलाव की उम्मीद बेकार है। उन्होंने राष्ट्र निर्माण में युवाओं की सहभागिता पर बल दिया।

कार्यक्रम अध्यक्ष आरएसवी ग्रुप ऑफ स्कूल्स के सीएमडी सुभाष स्वामी ने कहा कि देश की चिंता नहीं अपितु चिंतन ज़रूरी है। उन्होंने कहा कि चिंतन हमारी पूंजी है और चिंतन के साथ कार्य को करने के लिए जुट जाना इस देश का स्वभाव है। स्वामी ने युवाओं के अनेकानेक इनिशिएटिव्ज़ के रोचक उदाहरणों से समझाया कि वास्तविक देशभक्ति सिर्फ अपने कार्य को सर्वाेत्तम ढंग से करने में निहित है। स्वामी ने वि़द्यार्थियों को प्रेरित करने के लिए बिट्टा को धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम को फेसबुक यूट्यूब आदि लाइव माध्यमों से लगभग दो हज़ार लोगों ने देखा और सराहा।

समाजसेवी ओम प्रकाश मोदी ने विद्यार्थियों को क्रिएटिव काम करने और आज्ञा देने से पहले आज्ञा पालन करने की सीख दी। कार्यक्रम का संचालन आरएन आरएसवी के प्राचार्य नीरज श्रीवास्तव ने किया और आरएसवी के सीनियर विंग कोर्डिनेटर रविन्द्र भटनागर ने आभार प्रकट किया।
कार्यक्रम में डीन होम साइंस कॉलेज डॉ. विमला डूकवाल, अधिवक्ता राजेश लदरेचा, डॉ. यश बंशी माथुर, ओम प्रकाश मोदी, राजकुमार पचीसिया, सग्राम सिंह और कृष्ण कुमार मेहता आदि विशिष्टजन मौजूद थे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply