Picsart 22 02 21 17 58 49 412

संभाग स्तरीय अमृता हाट मेला 4 से 10 मार्च तक

0
(0)

पहली बार लगेंगी 150 स्टॉल्स, महिलाओं के स्वास्थ्य की होगी जांच*
बीकानेर, 21 फरवरी। संभाग स्तरीय अमृता हाट मेला 4 से 10 मार्च तक जयनारायण व्यास कॉलोनी स्थित ग्रामीण हाट में आयोजित किया जाएगा। इसकी तैयारियों के संबंध में सोमवार को संभागीय आयुक्त नीरज के. पवन की अध्यक्षता में बैठक आयोजित हुई।
संभागीय आयुक्त ने बताया कि अमृता हाट के दौरान पहली बार लगभग 150 स्टॉल्स लगाई जाएंगी। यह स्टॉल्स प्रदेश के सभी 33 जिलों का प्रतिनिधित्व करेंगी। इनमें महिला स्वयं सहायता समूहों के अलावा प्रदेश एवं राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों, विश्वविद्यालयों सहित सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता की स्टॉल भी लगेंगे। उन्होंने कहा कि मेले के दौरान सभी स्टॉल धारक महिलाओं एवं खरीदारी के लिए आने वाली महिलाओं के हिमोग्लोबीन सहित अन्य आवश्यक मेडिकल जांच करवाई जाएगी। साथ ही इस रिकॉर्ड का संधारण भी किया जाएगा।

संभागीय आयुक्त ने बताया कि मेले के दौरान प्रतिदिन सांस्कृतिक गतिविधियां होंगी। वहीं महिला दिवस सप्ताह के तहत विभिन्न खेलकूद प्रतियोगिताएं एवं विशेष जाजम का आयोजन होगा। वहीं महावारी स्वच्छता प्रबंधन एवं जागरुकता के लिए पैडमेन फिल्म भी दिखाई जाएगी। मेले के दौरान नशा मुक्ति से संबंधी स्टॉल भी लगाई जाएगी तथा नशाखोरी के विरूद्ध जागरुकता से संबंधित कार्यक्रम प्रतिदिन आयोजित होंगे।

इस दौरान संभागीय आयुक्त ने महिला स्वयं सहायता समूहों को आमंत्रित करना, इनके लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं करना, कार्यक्रम स्थल पर साफ-सफाई, आमंत्रण पत्र तैयार करवाने सहित विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की तथा समय रहते सभी तैयारियां करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस दौरान संबंधित थाना अधिकारी तथा उनकी टीम पूरी मुस्तैदी रखें। उन्होंने बताया कि 28 फरवरी को ग्रामीण हाट में तैयारियों की अंतिम समीक्षा की जाएगी। उन्होंने अमृता हाट का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। इसके लिए सोशल मीडिया का उपयोग भी किया जाए।

जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने कहा कि महिला स्वयं सहायता समूहों के उत्पाद एमेजन, फ्लिपकार्ट जैसे प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध हो सकें, इसके मद्देनजर अमृता हाट के दौरान इसका प्रशिक्षण दिया जाए। इसके लिए मेला स्थल पर ई-मित्र स्टॉल लगाने के निर्देश दिए। साथ ही सभी संबंधित विभागों को कार्यवाही के लिए निर्देशित किया। महिला अधिकारिता विभाग की उपनिदेशक मेघारतन ने मेले से जुड़ी व्यवस्थाओं के बारे में बताया। इससे पहले संभागीय आयुक्त ने संविधान की उद्देशिक का पठन किया।

इस दौरान अतिरिक्त संभागीय आयुक्त एएच गौरी, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी नित्या के., महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक शारदा चौधरी, जिला उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक मंजू नैण गोदारा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीएल मीणा आदि मौजूद रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply