Screenshot 20211030 131142 WhatsApp

उच्च शिक्षा मंत्री ने छात्राओं को सौंपी स्कूटी

0
(0)

जिस परिवार की बेटी पढ़ी-लिखी होगी, वह परिवार आगे बढ़ेगा-भाटी

बीकानेर, 30 अक्टूबर। उच्च शिक्षा मंत्री श्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार कृत संकल्प है।मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में पिछले ढाई वर्षों में लिए निर्णय इस क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होंगे।

उच्च शिक्षा मंत्री शनिवार को राजकीय सुदर्शन कन्या महाविद्यालय में काली बाई भील मेधावी छात्रा स्कूटी वितरण योजना के तहत आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जिस परिवार की बेटी पढ़ी लिखी होगी, वह परिवार आगे बढ़ेगा। इसी उद्देश्य के साथ राज्य सरकार लगातार प्रयासरत है। बालिका शिक्षा को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से किए गए प्रयासों के सुनहरे परिणाम सामने आएंगे। उन्होंने कहा कि पहली बार प्रदेश में अंग्रेजी माध्यम के स्कूल खोले गए हैं। इन स्कूलों में शैक्षणिक गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा गया है। जिला और ब्लॉक मुख्यालय के बाद अब 5000 से अधिक आबादी वाले गांवों में ऐसे अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोले जाने प्रस्तावित हैं। पिछले ढाई वर्षों में प्रदेश में 123 नए राजकीय महाविद्यालय खोले गए हैं। इस दौरान बीकानेर जिले में भी 8 नई कॉलेज खुले हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में कॉलेज खुलने से उच्च शिक्षा के प्रति युवाओं का रुझान बढ़ा है। मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार 500 से अधिक बालिका वाले उच्च माध्यमिक विद्यालय को महाविद्यालय के रूप में क्रमोन्नत किया जाएगा।

अब छात्राओं को मिलेंगी 12 हजार 500 स्कूटी
उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि पूर्व में राज्य सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं के तहत लगभग 4000 छात्राओं को स्कूटी की जाती थी। अब इसका दायरा बढ़ाया गया है तथा वर्ष 2021 से लगभग 12500 छात्राओं को स्कूटी प्रदान की जाएगी। उच्च शिक्षा मंत्री ने स्कूटी प्राप्त करने वाली छात्राओं को बधाई दी तथा कहा कि मेहनत का क्रम अनवरत बनाए रखें और सतत रूप से कठोर परिश्रम करते हुए अपना लक्ष्य हासिल करें। उन्होंने कहा कि राजकीय सुदर्शन कन्या महाविद्यालय का इतिहास स्वर्णिम रहा है। यहां की अनेक पूर्व छात्राओं ने देश और दुनिया में बीकानेर का नाम रोशन किया है। वर्तमान में अध्यनरत छात्राओं को इससे सीख लेनी चाहिए।
अतिथि के रूप में बोलते हुए पूर्व पार्षद गोपाल पुरोहित ने कहा कि उच्च शिक्षा मंत्री के नेतृत्व में प्रदेश में उच्च शिक्षा के नए आयाम स्थापित हुए हैं। प्रदेश में उच्च शिक्षा के पक्ष में सकारात्मक वातावरण बना है।
राजकीय महारानी सुदर्शन कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. शिशिर शर्मा ने कार्यक्रम की रुपरेखा के बारे में बताया और छात्राओं के लिए राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी।

स्कूटी वितरण कार्यक्रम प्रभारी डॉ. हेमेंद्र अरोड़ा ने बताया कि वर्ष 2019-20 के लिए जिले की 7 कॉलेजों की 67 बालिकाओं का स्कूटी वितरण के लिए चयन हुआ। इनमें 50 छात्राएं सामान्य वर्ग, 12 अनुसूचित जाति तथा 5 अल्पसंख्यक वर्ग की हैं। इन छात्राओं में राजकीय महारानी सुदर्शन कन्या महाविद्यालय की 23, राजकीय डूंगर महाविद्यालय की 18, राजकीय महाविद्यालय नोखा की 11, लूणकरणसर की 9, श्रीडूंगरगढ़ की 4 तथा छत्तरगढ़ एवं खाजूवाला की एक-एक छात्रा सम्मिलित है। स्कॉलरशिप प्रभारी डॉ मंजू मीणा ने आभार जताया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. श्रीकांत व्यास तथा हिमांशु गुप्ता ने किया। इससे पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री ने सभी छात्राओं को स्कूटी की चाबी भेंट की।
कार्यक्रम में डॉ प्रभा भार्गव, डॉ. सुषमा बिस्सा, डॉ. राजेन्द्र पुरोहित, दिलीप बांठिया सहित स्कूटी प्राप्त करने वाली छात्राएं तथा उनके अभिभावक मौजूद रहे।

डे-केयर सेंटर का किया लोकार्पण
उच्च शिक्षा मंत्री भाटी ने इस दौरान महाविद्यालय परिसर में बने डे केयर सेंटर का लोकार्पण किया। इसका संचालन सुदर्शन पूर्व छात्रा परिषद द्वारा किया जाएगा। भाटी ने इसका अवलोकन भी किया तथा कहा कि कामकाजी महिला कार्मिकों के लिए यह सेंटर राहतकारी साबित होगी। उन्होंने महाविद्यालय प्रशासन को इस पहल के लिए बधाई दी।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply