TID-Logo

30 सितम्बर को निकाली जाएगी इन योजनाओं की लॉटरी

0
(0)

बीकानेर, 27 सितंबर। उद्यान विभाग की विभिन्न योजनाओं-पॉली हाउस, सामुदायिक जल स्रोत, वर्मी कम्पोस्ट संरचना, प्याज भंडारण संरचना, फर्टिगेशन, हाइवैल्यू कल्टीवेशन आदि में जिले को गतिविधि एवं श्रेणीवार आवंटित लक्ष्यों से डेढ़ गुना से अधिक कृषकों के आवेदन होने के कारण लाभार्थी कृषकों का चयन ऑनलाइन लॉटरी द्वारा किया जाएगा।
सहायक निदेशक (उद्यान) जयदीप दोगने ने बताया कि लॉटरी का आयोजन अतिरिक्त जिला कलेक्टर (नगर) कि अध्यक्षता मे 30 सितम्बर को सांगलपुरा बस स्टैंड के सामने स्थित उपनिदेशक कृषि एंव पदेन परियोजना निदेशक आत्मा कार्यालय के सभा भवन मे दोपहर 3 बजे किया जाएगा।

वार्ड पंचों के उपचुनाव मंगलवार को, सम्बन्धित क्षेत्रों में रहेगा सार्वजनिक अवकाश
बीकानेर, 27 सितंबर। जिले में पंचायती राज संस्थाओं में वार्ड पंचों के रिक्त पदों पर उपचुनाव के लिए मंगलवार को होने वाले मतदान के दौरान संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में सार्वजनिक अवकाश रहेगा। जिला निर्वाचन अधिकारी नमित मेहता ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं।
उल्लेखनीय है कि मंगलवार को बीकानेर पंचायत समिति के नापासर, बज्जू खालसा के ग्रांधी और कोलायत के नैणियां में वार्ड पंच के लिए उपचुनाव होने हैं। इस दौरान संबंधित ग्राम पंचायतों के इन निर्वाचन क्षेत्रों में यह आदेश लागू होंगे।

जिला कलक्टर ने जानी जल जीवन मिशन की प्रगति
बीकानेर, 27 सितम्बर। जिला कलक्टर नमित मेहता ने सोमवार को कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में जल जीवन मिशन के तहत गांवों में करवाए जाने वाले कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि दूरस्थ गांव-ढाणी में बैठे व्यक्ति के लिए यह योजना बेहद उपयोगी साबित होगी। इसका गंभीरतापूर्वक क्रियान्वयन किया जाए।
जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता दीपक बंसल ने बताया कि जल जीवन मिशन के तहत ग्रामीण क्षेत्रों के प्रत्येक घर में नल युक्त जल कनेक्शन करवाए जाने हैं। विभाग द्वारा वर्ष 2024 तक जिले में 56 हजार 696 कनेक्शन दिए जाने हैं। अब तक इनमें से 3 हजार 579 कनेक्शन किए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा सभी 854 गांवों में ग्राम जल एवं स्वच्छता समितियों का गठन कर लिया गया है। इनमें से 352 गांवों में विलेज एक्शन प्लान तैयार कर लिए गए हैं तथा 100 पंचायतों की ग्राम सभाओं में इनका अनुमोदन हो गया है। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों को जन भागीदारी का प्रतिशत हिस्सा उपलब्ध करवाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। अब तक 19 गांवों से 12.63 लाख रुपये जन भागीदारी के रूप में प्राप्त हुए हैं। ग्राम जल एवं स्वछता कमेटी के सदस्यों का 9 गांवों में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जा चुका हैI
बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओम प्रकाश, अधिशाषी अभियंता बलबीर सिंह, एमएंडई सलाहकार (जल जीवन मिशन) योगेश बिस्सा आदि मौजूद रहे।

विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित
बीकानेर, 27 सितम्बर। विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर सोमवार को विभिन्न कार्यक्रम आयोजित हुए।
पर्यटन विभाग के उपनिदेशक ने बताया कि प्रातः जूनागढ़ के अग्र भाग, सूरसागर व गंगा राजकीय संग्रहालय में सघन स्वच्छता एवं जागरुकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें कार्यालय स्टाफ के अतिरिक्त, गाइड व ट्रेवल एजेंट्स, पर्यटक सुरक्षा बल के कर्मचारियों ने भाग लिया। जूनागढ़ परिसर व गंगा राजकीय संग्रहालय में पर्यटकों का परम्परागत तरीके से स्वागत किया गया।
जूनागढ़ में आए पर्यटकों को तिलक लगाकर व फूलमाला पहनाकर स्वागत किया गया। संगीतकार मोहम्मद जफर द्वारा ‘फूल सजाऊँ झूम के गाऊं’ गीत को राजस्थानी लय में सगीतबद्ध कर प्रस्तुति दी गई, जिस पर तेलंगाना, तमिलनाडू व पंजाब से आए पर्यटकों ने झूमकर अपनी खुशी का इजहार किया। लोकगायक असगर खां ने राजस्थानी गीतों की प्रस्तुतति दी तथा साथी कलाकारों ने कालबेलिया व राजस्थानी नृत्य प्रस्तुत किया। खाजूवाला के मंगलाराम व साथियों ने मश्कवादन प्रस्तुत किया व स्वदेशी पर्यटकों को नृत्य करने के लिये प्रेरित किया।
शहर के पारम्परिक परिधान में रोबीलों की शान विशेष रूप से झलक रही थी। रेगिस्तान के जहाज को विभिन्न गहनों से सुसज्जित कर शामिल किया गया और बीकानेर की पारंपरिक झलक प्रस्तुत की गई। कार्यक्रम में उपखण्ड अधिकारी अशोक कुमार विश्नोई मौजूद रहे। इस अवसर पर गाइड, ट्रेवल एजेंट, पेइंग गेस्ट हाउस आदि व्यवसायी भी सम्मिलित हुए।

शहर की सफाई व्यवस्था को बनाएं और अधिक प्रभावी
जिला कलक्टर की अध्यक्षता में बैठक आयोजित
बीकानेर। जिला कलक्टर नमित मेहता ने शहर की सफाई व्यवस्था को और अधिक प्रभावी बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि निगम आयुक्त इसकी नियमित मॉनिटरिंग करें तथा आवश्यकता के अनुसार शहर के प्रमुख मार्गों का जायजा लिया जाए। आवारा पशुओं की धरपकड़ तथा प्रतिबंधित पॉलीथीन की रोकथाम के लिए सतत अभियान चलाने के साथ ही बरसात के कारण क्षतिग्रस्त सड़कों का पेचवर्क दस अक्टूबर तक करने के लिए नगर विकास न्यास, नगर निगम और पीडब्ल्यूडी को संयुक्त कार्यवाही के लिए निर्देशित किया है।
जिला कलक्टर ने सोेमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में बजट घोषणा क्रियान्वयन, संपर्क पोर्टल प्रकरणों के निस्तारण सहित विभिन्न विकास कार्यों की प्रगति समीक्षा बैठक के दौरान यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बजट घोषणाओं का क्रियान्वयन समयबद्ध तरीके से किया जाए। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही करने पर संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने दो अक्टूबर से शुरू होने वाले ‘प्रशासन गांवों के संग अभियान’ के तहत किए जाने वाले कार्याें की समीक्षा की। अभियान से पहले प्री-कैम्प्स आयोजित करने तथा इनमें सभी विभागों को उपस्थित रहने के निर्देश दिए।
जिला कलक्टर कहा कि बरसात के कारण क्षतिग्रस्त सड़कों का चिन्हीकरण करते हुए इनके पेचवर्क का संयुक्त अभियान चलाया जाए। जहां आमजन का आवगमन अधिक हो, वहां इसे प्राथमिकता दी जाए। नगर निगम अपने सभी संसाधनों का बेहतर उपयोग करते हुए शहर को साफ-सुथरा रखें। सभी स्ट्रीट लाइटें चालू रहें, इसके लिए प्रभावी कार्यवाही करने तथा नालों की साफ-सफाई करवाने के निर्देश दिए। प्रभारी मंत्री तथा मुख्य सचिव के दौरों के दौरान प्राप्त जन समस्याओं का प्राथमिकता से निराकरण करते हुए इसकी सूचना उपलब्ध करवाने को कहा।
कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति की समीक्षा की तथा जिले में बनने वाले विभिन्न ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट्स का कार्य शीघ्र पूर्ण करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि संभावित तीसरी लहर से निपटने की सभी तैयारियां जिले में पूर्ण गंभीरता से की जाएं। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं होगी। उन्होंने संपर्क पोर्टल के लंबित प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की तथा कहा कि कार्यालय स्तर पर इसकी मॉनिटरिंग की व्यवस्था लागू हो। बेवजह लंबित प्रकरणों को गंभीरता से लिया जाएगा और संबंधित जिला स्तरीय अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) बलदेव राम धोजक, अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) अरूण प्रकाश शर्मा, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, नगर विकास न्यास सचिव नरेन्द्र सिंह पुरोहित, नगर निगम आयुक्त पंकज शर्मा, जिला रसद अधिकारी यशवंत भाकर, जिला रसद अधिकारी (द्वितीय) भागूराम महला, सहायक निदेशक (लोक सेवाएं) सवीना बिश्नोई, सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के संयुक्त निदेशक सत्येन्द्र सिंह राठौड़ सहित विभिन्न विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

संभाग स्तरीय अमृता हाट मेला 6 अक्टूबर से
संभागीय आयुक्त ने की तैयारियों की समीक्षा
बीकानेर, 27 सितंबर। संभाग स्तरीय अमृता हॉट मेले का आयोजन जयनारायण व्यास कॉलोनी स्थित ग्रामीण हाट में 6 से 12 अक्टूबर तक आयोजित किया जाएगा। इसकी पूर्व तैयारियों के संबंध में सोमवार को संभागीय आयुक्त बी.एल. मेहरा की अध्यक्षता में बैठक आयोजित हुई।
संभागीय आयुक्त ने कहा कि महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से आयोजित इस मेले में प्रदेश के 33 जिलों में कार्यरत महिला स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी रहेगी। इसमें महिलाओं द्वारा निर्मित उत्पादों के 80 से 100 स्टॉल्स लगाए जाएंगे। इससे संबंधित सभी तैयारियां समय रहते कर ली जाएं। आयोजन के दौरान कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर की अनुपालना सुनिश्चित की जाए। साथ ही गृह विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन का ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि मेले के सफल आयोजन के लिए विभिन्न विभागों की जिम्मेदारी तय की गई है। इसके अनुरूप सभी व्यवस्थाएं कर ली जाएं।
संभागीय आयुक्त ने आयोजन स्थल पर साफ-सफाई, विद्युत आपूर्ति, पेयजल, बैठक, स्टॉल आवंटन, भोजन आदि से संबंधित कार्यों का विशेष ध्यान दिया जाए। आयोजन का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार हो। मेले के दौरान सुरक्षा व्यवस्था पर चाक-चौबंद रखने तथा आवश्यक जाब्ता तैनात करने के लिए निर्देशित किया। इस दौरान आवश्यक संसाधनों के साथ मेडिकल टीम नियुक्त करने तथा सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए नियंत्रण कक्ष स्थापित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोविड गाइडलाइन के अनुरूप सक्षम स्तर से आवश्यक मार्गदर्शन के पश्चात् ही सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाए।
जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि आयोजन में बीकानेर के परम्परागत लघु उद्योगों से जुड़े स्वयं सहायता समूहों को आमंत्रित किया जाए। इस दौरान मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना तथा महिला एवं बाल विकास विभाग की विभिन्न योजनाओं के प्रचार-प्रसार से संबंधित स्टॉल्स लगाई जाएं। उन्होंने सभी विभागों को उन्हें दिए गए दायित्वों का निर्वहन पूर्ण गंभीरता से करने के निर्देश दिए। महिला अधिकारिता विभाग की उपनिदेशक मेघा रतन ने मेले के दौरान आयोजित होने वाली विभिन्न गतिविधियों के बारे में बताया।
इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) अरुण प्रकाश शर्मा, अतिरिक्त संभागीय आयुक्त ए एच गौरी, नगर निगम आयुक्त पंकज शर्मा, महिला और बाल विकास की उपनिदेशक शारदा चौधरी, जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी नरेन्द्र चौधरी, जिला उद्योग एवं वाणिज्य विभाग की उपनिदेशक मंजू नैण गोदारा, जिला रसद अधिकारी भागूराम महला, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक एलडी पंवार, आदि मौजूद रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply