IMG 20210906 WA0037

बढ़ते जनसंख्या घनत्व से आगामी पीढ़ियों के समक्ष खड़ी होगी विकट समस्या

5
(3)

बीकानेर। जनसंख्या समाधान फाउन्डेशन राजस्थान की बीकानेर इकाई की जिला कार्यसमिति बैठक आज राजविलास कॉलोनी स्थित खैरपूर भवन मे फाउन्डेशन के जिलाध्यक्ष भगवती प्रसाद गौड की अध्यक्षता में समपन्न हुई। बैठक मे फाउन्डेशन के राजस्थान के अध्यक्ष पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा, प्रदेशाध्यक्ष नारायण राम चौधरी, प्रदेश संयोजक सुमन शर्मा, प्रदेश महामंत्री कुलभूषण बैराठी, स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक कैलाश, महिला मोर्चा जयपुर जिलाध्यक्ष संतोष प्रजापत, पूर्व विधायक व मंत्री देवी सिंह भाटी, संवित सोमगिरी ट्रस्ट के अधिष्ठाता विमर्शानन्द महाराज, धर्म जागरण मंच के जिला संयोजक जेठानन्द व्यास, बेटी बचाओ बेटी पढाओ की प्रदेश संयोजक मीना आसोपा, कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे।
अतिथियो द्वारा मॉं भारती के तेल चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया तथा सुधा आचार्य, कमलजीत कौर, चन्द्रकला, विजयलक्ष्मी आदि ने वन्दे मातरम का गायन किया। फाउन्डेशन के जिलाध्यक्ष भगवती गौड ने स्वागत भाषण के साथ ही जिला इकाई द्वारा अब तक किये गये कार्यो का वृत प्रस्तुत किया । वही प्रदेश महामंत्री कुलभूषण बैराठी ने फाउन्डेशन के उद्देश्य व महत्व तथा वर्तमान किये जाने कार्य पर विस्तार से बताया। उन्होने बताया कि प्रदेश के लगभग सभी जिलो में फाउन्डेशन की कार्यकारिणीयो का गठन हो चुका है शीघ्र ही तहसील स्तर पर भी कार्यकारिणीयो का गठन किया जायेगा।

IMG 20210906 WA0026


फाउन्डेशन के प्रदेश संरक्षक ज्ञानदेव आहूजा ने कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान जिस तरह जनसंख्या घनत्व बढ़ रहा है उससे आने वाली पीढ़ियो के लिए विकट समस्या खड़ी होगी। जिसके लिए समय रहते समस्या का समाधान नहीं हुआ तो बहुत मुश्किल होगी। इस बात को ध्यान मे रखते हुए फाउन्डेशन का गठन किया गया है। इस राष्ट्र व्यापी आंदोलन के कारण सरकार को जनसंख्या नियंत्रण अधिनियम संसद में पेश कर कानून बनाना ही होगा।
पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी ने अपने जोशीले अंदाज में बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि सोया हुआ हिंदू जागे देश के खिलाफ षड्यंत्र रचने वाले लोगों द्वारा जातिवाद में बाटे जा रहे हिंदूओ को एक होकर जनसंख्या के बिगड़ते अनुपात को सुधारने की लडाई में हर संभव आहूति देनी होगी। उन्होंने कहा कि जब तक समाज एक नही होगा तब तक हम जनसंख्या के बढ़ते हुए घनत्व को रोक नही पायेंगे। इसके लिए कानून के साथ ही समाज को भी पुरानी संस्कृति से अवगत करवाना होगा। उन्होने फाउन्डेशन को अपना पूर्ण समर्थन देते हुये कहा कि राष्ट्रहित के इस आंदोलन को आम जनता को पूर्ण समर्थन मिलेगा तथा हम ऐसे किसी भी आंदोलन हेतु हमेशा तैयार रहेंगे। विदित रहे कि पूर्व मंत्री भाटी द्वारा बीकानेर जिले मे गोचर बचाओ आंदोलन चलाया जा रहा है। गायों के लिए आरक्षित जमीनों पर किये जा रहे कब्जों को हटाने व गोचर में गायों हेतु सेवण घास आदि कई कार्यक्रम किये जा रहे है। धर्म विशेष के लोग पशुओं का वध करने के लिये विभिन्न तरह के हथियार रखते है। वहीं आम आदमी अपनी सुरक्षा के लिये भी अपने घर पर किसी भी तरह का हथियार नहीं रख सकता है जबकि सरदारों नें कृपाण को कानून में वैध करवाया जिससे वे अपनी और अपने समाज के लोगों की रक्षा के लिये सक्षम हो सके। ठीक इसी प्रकार स्वंय व समाज के लिये हथियार रखने की छूट हर व्यक्ति को होनी चाहिये।
प्रदेश संयोजक व राजस्थान महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा ने कहा कि फाउन्डेशन ने सरकार के समाने जनसंख्या नियंत्रण अधिनियम के लिए जो शर्ते रखी उनमे सबसे महत्वपूर्ण बिन्दू प्रत्येक दम्पति के दो संतान की है। जनसंख्या समाधान फाउन्डेशन किसी धर्म जाति वर्ग से जुडा नही हैं। बल्कि फाउन्डेशन का प्रमुख उद्देश्य बढ़ती हुई जनसंख्या को नियंत्रित करना तथा सीता-सलमा-डिसूजा के बीच प्रेम बढ़ाना है।
जनसंख्या समाधान फाउन्डेशन के राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष नारायण राम चौधरी ने कार्यकर्ताओ को फाउन्डेशन की स्थापना से लेकर आज तक किये गये कार्य व आगामी कार्यक्रर्मो की जानकारी दी। चौधरी ने बताया कि फाउन्डेशन पूर्णतः गैर राजनैतिक संगठन है तथा संगठन द्वारा किये जाने वाले सभी कार्य मानवता व मानव भलाई व राष्ट्र प्रेम हित में है। फाउन्डेशन आने वाले दिनो में जिला स्तर पर रैलियो को आयोजन करके आंदोलन के द्वारा सरकार पर जनसंख्या नियंत्रण कानून संसद में अतिशीघ्र प्रस्तुत कर पास करवाने का दबाव बनायेगा। जनसंख्या के बढ़ते खतरे से देश को सतर्क रहने व सरकार से जनसंख्या नियन्त्रण कानून शीघ्र बनाने की मांग की जाएगी। वहीं प्रदेश संरक्षक ज्ञानदेव आहूजा नें कहा कि आने वाले समय की मांग को देखते हुवे दो से अधिक सन्तान वालों से मत का अधिकार वापस ले लेना चाहिये। सरकारी सुवधिाओं एवं योजनाओं का लाभ बन्द कर देना चाहिये और तीन सन्तान होने पर सरकारी कानून का उल्लंघन मानते हुवे सजा का प्रावधान होना चाहिये।
बैठक को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक कैलाश शर्मा ने भी संबोधित किया उन्होने इस आंदोलन को प्रत्येक भारतवासी का आंदोलन बताया। तथा सभी से सहयोग की अपील की।
फाउन्डेशन के बीकानेर इकाई संरक्षक महावीर रांका ने आये हुए अतिथियों व कार्यकर्ताओं का धन्यवाद व आभार प्रकट किया। कार्यक्रम का संचालक भाजपा पूर्व प्रवक्ता ओम राजपुरोहित ने किया। कार्यक्रम में सत्यप्रकाश आचार्य, विजय आचार्य, विजयलक्ष्मी, दुर्गावती पाण्डे, संगीता शेखावत, भारती अरोड़ा, रतनी आसोपा, रूकमणि शर्मा, सुमन छाजेड़, भंवर पुरोहित, मधुरिमा सिंह, ओम राजपुरोहित, राजेन्द्र शर्मा, मधुसुदन शर्मा, मुकेश शर्मा, सीए सुधीश शर्मा, संजय गोदारा, नरसिंह सेवग, रमेश भाटी, तेजाराम राव, शम्भू गहलोत, आनन्द सोनी, कौशल शर्मा, हनुमान सिंह चावड़ा, विनोद करोल, अंकित भारद्वाज, जेठमल नाहटा, हरिसिंह बड़गुजर, वूमेन पॉवर सोसाइटी की प्रदेशाध्यक्ष अर्चना सक्सेना, गोपाल आचार्य, मानसिंह मामनानी, देवदत शर्मा, दिनेश महात्मा, सुमन कंवर शेखावत, अजय खत्री, शशिप्रभा गौड़, चन्द्रप्रकाश गहलोत, गौरीशंकर देवड़ा, लक्की पंवार, लोकेश कच्छावा, राजेन्द्र व्यास, जगदीश सोलंकी, धनश्याम लोहिया, पुखराज स्वामी, मूलचन्द नायक, हुलास भाटी, कमलेश कुमार सत्याणी, बसन्ती शर्मा, निर्मला खत्री, रामकुमार व्यास, आदि विभिन्न संगठनों व संस्थाओं के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 3

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply