IMG 20210830 WA0028

जन्माष्टमी : आरएलजी फाउंडेशन के सांस्कृतिक कार्यक्रम में पहुंचे नन्हे कान्हा

4
(1)

कृष्ण के अनुसार शिक्षा ऐसी होनी चाहिए जो बच्चों का सम्पूर्ण विकास करें- डॉ. अर्पिता

बीकानेर। जन्माष्टमी के पावन पर्व पर सुदर्शना नगर स्थित साईं बाबा मंदिर में आर एल जी फाउंडेशन द्वारा नन्हे बच्चों के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रम किया गया। सर्वप्रथम मंदिर के सोनू महाराज ने नन्हे राधा कृष्ण बने बच्चों से आरती करवा कार्यक्रम का आगाज किया।

जहां खुशी, वर्तिका, सोनाक्षी, नेहल, राम, दिव्यांशी, जिज्ञासा, दीया सिंह, तमन्ना, आयशा, अपूर्वा, मात्रिका, आशीष ने भजनों पर नृत्य कर मनमोहक प्रस्तुति दी। वहीं रूहानी राजपाल ने भजन सुनाकर , आराध्या ने सुदामा बन गीत गाकर और नेहल व अनन्या ने श्लोक सुनाकर अपनी प्रस्तुतियों से वातावरण को वृंदावनमयी कर दिया।

इस अवसर पर संस्थान की अध्यक्ष डॉ. अर्पिता गुप्ता ने बच्चों को बताया कि श्री कृष्णा कहते हैं शिक्षा ऐसी होनी चाहिए जो हमारे व्यक्तित्व विकास का रचनात्मक विकास करें इसीलिए संगीत, नृत्य, युद्ध सहित 64 कलाओं में श्री कृष्ण दक्ष है जो उनके व्यक्तित्व का हिस्सा है।

कार्यक्रम की अतिथि सुमन छाजेड़, सरिता नाहटा, डॉ. शरद, डॉ.मधुबनी रावत ने उपहार, मिठाई देकर बच्चों का उत्साह बढ़ाया। कार्यक्रम का सफल संचालन मनीष डागा द्वारा किया गया। नौशाद अली, दिनेश गुप्ता, नितिन खत्री ने भी बच्चों की प्रस्तुतियों को सराहा।

कार्यक्रम को सफल बनाने में रोहित भारती गोस्वामी, वीरेंद्र राजगुरु, पुखराज मेघवाल, डॉ. पूजा अग्रवाल, कोशिका चावला, हसन खान,भवानी सिंह, यश व सौरभ बंसल की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 4 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply