IMG 20210816 WA0020

“यूथ फोर नेशन” कार्यक्रम से राजीव गांधी जन्मोत्सव कार्यक्रम का आगाज

0
(0)

बीकानेर । सेवादल द्धारा पूर्व प्रधानमंत्री स्व.राजीव गांधी की जयंती पर प्रस्तावित त्रिदिवसीय दिवसीय कार्यक्रम का आगाज “यूथ फोर नेशन” कार्यक्रम से किया गया। जिसका मुख्य उद्धेश्य स्व राजीव गांधी द्बारा राष्ट्र निर्माण में युवाओं कि भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए प्रथम बार अपने प्रधानमंत्री काल में अठ्ठारह वर्ष के युवाओं को मत का अधिकार देकर राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान देने के संकल्प को सुनिश्चित करने का जो अवसर दिया था उसे उन्हे स्मरण करवाना था । सेवादल द्बारा उठाये गये त्रिदिवसीय कार्यक्रम के पहले दिन राजकीय डूंगर महाविद्यालय और रामपुरिया महाविद्यालय में युवाओं को राष्ट्रध्वज सौपें गए। इस अवसर पर सेवादल के कार्यकर्ताओं ने पूर्ण गणवेश में उपस्थिति दी तथा 18 वर्षीय नवमतदाताओं को स्व. राजीव गांधी द्वारा मताधिकार की आयु 18 वर्ष करने एवं पंचायती राज व्यवस्था को मजबूत करने और विश्व शांति की स्थापना करने के लिए उनके किए गए कार्यो की जानकारी दी। डूंगर महाविद्यालय और रामपुरिया महाविद्यालय के छात्रों ने राजीव गांधी अमर रहे के नारे लगाए तथा स्व. राजीव गांधी के पदचिन्हों पर चलते हुए सेवादल के माध्यम से राष्ट्र की सेवा का संकल्प लिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता शिव शंकर हर्ष ने करते हुए राजीव गांधी के तैलीय चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की तथा स्व.राजीव गांधी के जीवन पर प्रकाश डाला इस अवसर पर सेवादल के वरिष्ठ नेता नरसिंह दास व्यास ने पुष्पांजलि अर्पित की तथा साजिद सुलेमानी द्वारा राजीव गांधी के जीवन चरित्र पर अपने विचार रखे।

सेवादल की डूंगर काँलेज गेट मीटिंग के दौरान युवा नेता पंकज रिटोड, किशन कल्ला आदि ने कहा राष्ट्र राजीव गांधी जी के युवा पीढ़ी के प्रति योगदान को कभी नहीं भूल सकता। लोकतंत्र में मतदान के महत्व को समझते हुए 18 वर्षीय युवकों को मताधिकार दिया तब से सरकार व प्रशासन में युवाओं की भूमिका बढ़ी हैं। वहीं रामपुरिया महाविद्यालय परिसर में देवेन्द्र बिस्सा व राजेश दुजारी ने कहा कि इस पहल से सरकार की योजनाओं में भी इस वर्ग की भागीदारी सुनिश्चित हुई है। 18 वर्ष के मतदान के कारण आज भारत सबसे बड़ा लोकतांत्रिक गणराज्य बन पाया है। राजीव गांधी का जीवन सभी युवाओं के लिए प्रेरणादायक है। इस अवसर पर किसन कल्ला, ताराचंद जयपाल, परमाराम सुथार, वासुदेव गहलोत, योगेंद्र आचार्य, शेख नजाकत अली, नवाब अली,जाकिर,संजय गीला,देवेंद्र सिंह चौहान,वीरेंद्र किराडू,सुमनेश रंगा,तनवीर सिंह भाटी, शिव प्रजापत साजिद सुलेमानी आदि मौजूद थे।
कल 17 अगस्त को सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में स्व. राजीव गांधी के योगदान पर प्रकाश डाला जाएगा।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply