IMG 20210807 WA0042

सूरज की रोशनी से जगमग होगा प्रदेश का कृषि विश्वविद्यालय

0
(0)

मंत्रोच्चार के साथ विश्वविद्यालय में रूफटॉप सोलर सिस्टम का उद्घाटन

– सालाना 2.65 लाख यूनिट बचत कर आत्मनिर्भर बनेंगे- कुलपति प्रो.आर.पी. सिंह

बीकानेर, 07 अगस्त। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के परिसर में स्थित भवनों के ऊपर चमकते सोलर पैनल ना केवल हरे-भरे विश्वविद्यालय की सुंदरता बढ़ाएंगे बल्कि सौर ऊर्जा से परिसर की बिजली की मांग को भी पूरा करेंगे। आज विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.आर.पी. सिंह ने 202 किलोवाट के “ग्रिड कनेक्टेड रूफटॉप सोलर पीवी सिस्टम” उद्घाटन करते हुए बताया की संयंत्र के उद्घाटन के साथ ही छत पर बने ग्रिड सोलर प्लांट का संचालन शुरू हो गया है। सोलर एनर्जी कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड द्वारा रेस्को मॉडल (रिन्यूएबल एनर्जी सर्विस कंपनी, आरएससीओ ) सोलर प्लांट को हीरो रूफ़टोप एनर्जी प्राइवेट कंपनी दिल्ली द्वारा आपूर्ति, स्थापित,कमीशन और संचालित किया गया है। परिसर में लगे प्लांट में 202 किलोवाट के 621 सोलर पैनल लगाए गए हैं। इस संयंत्र से प्रतिवर्ष लगभग 2.65 लाख यूनिट विद्युत ऊर्जा की बचत होगी। कुलपति प्रो. सिंह ने बताया प्रशासनिक भवन की छत पर 59 किलोवाट, होम साइंस कॉलेज की छत पर 84 किलोवाट एवं आईएबीएम की छत पर 59 किलोवाट क्षमता के सोलर पावर प्लांट स्थापित किए गए है। इस प्रकार कुल 202 किलोवाट की क्षमता का सोलर प्लांट स्थापित किया गया है जिससे की सालाना 50 लाख रुपये की बचत होने का अनुमान है। राजस्थान सरकार के दिशा निर्देशों की अनुपालना व विश्वविद्यालय को ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने के साथ साथ बिजली पर सालाना खर्च को कम करने के उद्देश्य से विश्वविद्यालय के भवनों की छतों पर रूफटाप सोलर पावर सिस्टम लगाए जाने का निर्णय लिया गया। छतों के ऊपर सोलर पावर प्लांट स्थापित करने से परिसर की भूमि को शैक्षणिक अनुसंधान एवं अन्य अकादमिक कार्यों में उपयोग में लायी जा सकती है और इसके अलावा इससे छतों की सुरक्षा भी होती है। परिसर में सोलर प्लांट से बिजली बनने से परंपरागत ऊर्जा पर हमारी निर्भरता तो कम होगी ही और पर्यावरण संरक्षण को भी बढ़ावा मिलेगा। अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए इस तरह के सोलर प्लांट राज्य में लगाए जा रहे हैं। मार्च माह में कंपनी ने चयनित स्थानों पर 621 सौर-पैनल स्थापित करने का काम शुरू किया लेकिन कोरोना महामारी के कारण यह कार्य बाधित रहा अंततः इन्स्टालेशन कार्य पूर्ण होकर सोलर सिस्टम संचालित हो गया है। सोलर एनर्जी कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एसईसीआई), भारत सरकार के नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की एक कंपनी है, जिसे राष्ट्रीय सौर मिशन के कार्यान्वयन की सुविधा के लिए स्थापित किया गया है। यह सौर ऊर्जा क्षेत्र को समर्पित एकमात्र केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम है। उद्घाटन कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के समस्त डीन व डायरेक्टर्स, अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply