TID-Logo

बैंड-बाजे ढंग से गुंजाओ वरना हम करेंगे बहिष्कार

0
(0)

बीकानेर। शादी समारोहों और संबंधित व्यवसायों को छूट की मांग को लेकर कोरोना गाइडलाइन की पालना करते हुए जिला टेंट व्यवसायी वेलफेयर समिति बीकानेर एवं अन्य समितियों की ओर से जिला कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया गया। गाजे बाजे वालों के साथ ऊंट घोड़ों पर सवार होकर आये प्रदर्शनकारियों ने अपने रोजगार पर आएं इस संकट से निजात दिलाने की सरकार से गुहार लगाई। प्रदर्शन कर रहे टेंट व्यवसायियों,बैंड बाजे वालों,हलवाईयों,कैटरिंग से जुड़े लोगों व फोटोग्राफर्स ने एक स्वर में शादी समारोह में समय अवधि व व्यक्तियों की पाबंदियों को हटाने तथा इससे जुड़े व्यवसाय को पूर्णतया खोलने की मांग की। साथ में चेतावनी दी कि अगर सरकार हमारी मांग पर ध्यान नहीं देगी तो चक्का जाम, धरना प्रदर्शन, आमरण अनशन आदि किए जाएंगे। प्रदर्शन करने वालों में जिला टेंट व्यवसायी वेलफेयर समिति के अध्यक्ष पूनमचंद कच्छावा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष बुलाकी राम चौधरी,सचिव राजेंद्र काला, ऑल इंडिया फोटोग्राफर फाउंडेशन बीकानेर के अध्यक्ष सुधाकर शर्मा, उपाध्यक्ष अभिषेक स्वामी, सुनील धीर सचिव,पंकज जिंदल,भीमसेन शर्मा,मनीष दमानी,मनोज तिवारी,किशन लाल प्रजापत,जे पी स्वामी सहित बैंड व्यवसायी,बीकानेर साउण्ड एसोसिएशन के पदाधिकारी शामिल हुए। प्रदर्शनकारियों ने सरकार को 24 घंटे की चेतावनी देते हुए कहा कि मांगें न मानने पर हमारे व अन्य समितियों द्वारा सरकारी व अर्ध सरकारी कार्यों का पूर्ण रूप से बहिष्कार किया जाएगा,चक्का जाम, धरना प्रदर्शन, आमरण अनशन आदि किए जाएंगे।

ये हैं मांगें
शादी-विवाह समारोह में समय अवधि एवं व्यक्तियों की पाबंदी को हटाया जाए।
हमें संयुक्त रूप से 40 व्यक्तियों की जगह 200 व्यक्तियों की परमिशन दी जाए।
व्यापार को टेंट, लाइट,जनरेटर,फ्लावर एंड कैटरिंग,हलवाई, फोटोग्राफी,डीजे, बैंड, इवेंट,लवाजमा थीम, ब्यूटी पार्लर आदि को पूर्ण रूप से खोला जाए
शादी समारोह में समय अवधि को रात्रि 10:00 बजे तक की जाए
कोषाध्यक्ष – भीमसेन शर्मा, संगठन मंत्री मनीष दमानी , मुख्य सलाहकार मनोज तिवारी, उपाध्यक्ष किशन लाल प्रजापत ने बताया कि अब कुछ ही सावे ( मुहूर्ताअनुसार शादी में ) शेष रह गए हैं,यदि सरकार – जिला प्रशासन द्वारा हमारी मांगे 24 घंटों के अंदर नहीं मानी गई तो आगे हमारी समितियों द्वारा की गई कार्रवाई के लिए सरकार – जिला प्रशासन स्वयं जिम्मेदार होगा।

बहिष्कार की नीति

मांगें न मानने पर हमारे व अन्य समितियों द्वारा सरकारी व अर्ध सरकारी कार्यों का पूर्ण रूप से बहिष्कार किया जाएगा,चक्का जाम, धरना प्रदर्शन, आमरण अनशन आदि किए जाएंगे। – अध्यक्ष पूनमचंद कच्छावा, जिला टेंट व्यवसायी वेलफेयर समिति

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply