उद्यमियों जागो और उद्यम लगाओ-डाॅ. कल्ला, Wake up entrepreneurs and start enterprises – Dr. Kalla

सोलर एनर्जी का काम करने पर आधी कीमत में जमीन
अब एक मेगावाट का सोलर प्लान्ट लगाने पर आएगा आधा खर्च

बीकानेर। ऊर्जा एवं जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डाॅ. बी.डी.कल्ला ने राज्य के उद्यमियों को आव्हान किया कि आप जागो और उद्योग लगाए। रोजगार देने में भागीदार बने। राज्य की नई उद्योग नीति में उद्यमियांे को बहुत सी सहूलियत दी गई। इस्पेंटर राज को समाप्त कर दिया है। अब नए उद्योग लगाने के लिए तीन वर्ष तक लाईसंेस लेने की जरूरत नहीं रहेगी। डा. कल्ला शनिवार को सूक्ष्म, लधु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय, भारत सरकार की सहायता से राज्य में औद्योगिक विकास को गति प्रदान करने, केन्द्र एवं राज्य की औद्योगिक विकास योजनाओं की जानकारी उद्यमियों को उपलब्ध कराने तथा स्थानीय स्तर पर उद्यमियों से सीधा संवाद स्थापित करने के उद्देश्य को लेकर ग्रामीण हाट में आयोजित दो दिवसीय उद्यम समागम कार्यक्रम के समापन अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उद्योग लगाने का सरलीकरण किया है। अगर कोई भी व्यक्ति उद्योग लगाना चाहता है तो तीन साल तक उसे लाइसेंस लेने की जरूरत नहीं पडे़गी।
उद्योग पर जितनी बंदिशें उतना ही होगा कमजोर
उन्हांेने कहा कि उद्योग लगाने पर जितनी बंदिशें लगाई जाएगी, उद्योग उतना ही कमजोर गति से पनपेगा। इसलिए मुख्यमंत्री ने सब लोगों की राय से तीन वर्ष तक उद्यमी को बहुत सी छूट प्रदान की है, जिसमें लाईसेंस की जरूरत नहीं है। उन्हांेने कहा कि राज्य सरकार ने सोलर एनर्जी व विण्ड एनर्जी पाॅलिस को भी लांच किया है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति सोलर एनर्जी का काम करना चाहता है, उसे जमीन आधी कीमत पर, पंजीकरण शुक्ल माफ तथा उसके बाद कोई व्यक्ति सीलिंग की जमीन पर काम करना चाहता है तो सीलिंग से मुक्ति और दस साल तक उसे इलेक्ट्रिीसिटी ड्यूटी फ्री रहेगी। उन्होंने कहा कि सोलर एनर्जी का जो उत्पादन करेगा, उसकी इलेक्ट्रिीसिटी माफ रहेगी।
दुनिया को लुभा रही है यहां के सौर ऊर्जा की विपुलता
उन्होंने कहा कि राजस्थान में सौर ऊर्जा की विपुलता को देखते हुए दुनिया के लोग यहां आ रहे हैं। अडानी भडला में लगभग 3 हजार मेगावाट बिजली उत्पादन सौर ऊर्जा से कर रहा है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति पहले एक मेगावाट का सोलर प्लान्ट लगाता था, उसे करीब साढे आठ करोड़ रूपए खर्च करने पड़ते थे। लेकिन वर्तमान में चाइनीज टेक्नोलाॅजी से इतने ही मेगावट के लिए साढे चार करोड़ रूपए तथा कोरिया की टेक्नोलाॅजी पर आधारित प्लांट पर ढाई से तीन करोड़ रूपए खर्च करने पड़ रहे है। उन्होंने कहा बीकानेर में औद्योगिक विकास की चर्चा करते हुए कहा कि पूर्व उद्योगमंत्री भीमसेन चैधरी के प्रयासों से रानी बाजार औद्योगिक क्षेत्र विकसित हुआ। उन्होंने बीकानेर के उद्यमी और व्यापारिक वर्ग से कहा कि वे अपने हितों के प्रति सावचेत रहे, उनकी समस्याओं के समाधान करवाया जाएगा।
हमारी अर्थ व्यवस्था में मील का पत्थर साबित होगा सूर्य का तेज
इस अवसर पूर्व मंत्री वीरेन्द्र बेनीवाल ने बीकानेर मुख्य रूप से फूड प्रोसेसिंग के क्षेत्र मे अग्रणीय रहा है। यह क्षेत्र सिरेमिक व ऊन उद्योग के क्षेत्र में पहचान रखता है। उन्होंने कहा कि सोलर ऊर्जा को लेकर बीकानेर का भविष्य उज्जवल है। अतः उद्यमी इसके प्लांट लगाकर, क्षेत्र के आर्थिक विकास में भागीदार बने। साथ ही सौर ऊर्जा का उत्पादन होने से गांवांे मंे बिजली की कमी नहीं रहेगी। सूर्य का तेज हमारी अर्थ व्यवस्था के लिए मील का पत्थर साबित होगा। इस अवसर पर जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष डीपी पचीसिया ने उद्यमियांे की समस्याओं पर प्रकाश डाला। इस अवसर उद्यमी सुशील थिरानी, होम सांइस काॅलेज की डीन विमला डूकवाल, राजस्थान वूलन इण्डस्ट्रीज एसोसिएषन के अध्यक्ष कमल कल्ला, जिला उद्योग केन्द्र के सहायक निदेशक सुरेन्द्र शर्मा उपस्थित थे। इससे पहले ऊर्जा मंत्री डाॅ.कल्ला व पूर्व मंत्री वीरेन्द्र बेनीवाल ने ग्रामीण हाट में लगी प्रदर्शनी और स्टाॅलों का अवलोकन किया और प्रदर्शित उत्पादों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने प्रदर्शनी में लगी स्टाॅलों के उद्यमियों व उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मान पत्र प्रदान किए।
उद्यम समागम में दो दिन तक विभिन्न सरकारी योजनाओं, अनुदानों आदि की जानकारी दी गई। जिला उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक मंजू नैण गोदारा, तरूण भटनागर, सहायक निदेशक एमएसएमई, जिला उद्योग अधिकारी अतुल शर्मा, उद्योग प्रसार अधिकारी पूजा शर्मा ने अतिथियों का स्वागत किया।

Bikaner. Energy and Public Health Engineering Minister Dr. BD Kalla called upon the entrepreneurs of the state to wake up and set up industries. Become a partner in giving employment. Entrepreneurs were given a lot of convenience in the new industrial policy of the state. Has eliminated the inspector Raj. Now there will be no need to take license for three years to set up new industries.









 

Leave a Reply

WhatsApp Us whatsapp
Click To Join Whatsapp Group Fo Daily News Updates. whatsapp
error: CONTENT IS PROTECTED!
%d bloggers like this: