TID-Logo

सीएम गहलोत ने असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में प्रेस वार्ता में बीजेपी को लिया आड़े हाथ

0
(0)

नमस्कार मुझे भी सौभाग्य मिला है कि मैं भी आपके बीच में आऊं और अपनी बात कहूँ। वैसे राजीव गांधी जी जब प्राइम मिनिस्टर थे और असम में अकॉर्ड हो रहा था, तब हम लोग केंद्र में मंत्री थे उनके साथ में, मुझे आज भी याद है कि वो स्थिति क्या थी, आप में से अधिकांश लोगों को मालूम होगा कि क्या माहौल था असम के अंदर और बड़ी चिंता थी पूरे मुल्क को। एक तरफ खालिस्तान वाली स्थिति थी, असम के अंदर आग लगी हुई थी, पता नहीं क्या होगा आने वाले वक्त में, ये माहौल था। उस माहौल में जिस प्रकार से इंदिरा जी ने अपनी जान दे दी पर खालिस्तान नहीं बनने दिया, राजीव गांधी जी ने बहुत ही मेटिकुलसली सोचकर के जो फैसला किया असम अकॉर्ड का वो भी इतिहास बन गया, सरकार चली गई कांग्रेस की परंतु असम बच गया और नई सरकार बनी दूसरी… उसके बाद में तरुण गोगोई साहब चीफ मिनिस्टर बने, तब भी मैं यहां आया था, जब मैं मुख्यमंत्री था राजस्थान में और 15 साल तक तरुण गोगोई साहब ने अपने अनुभव से जिस प्रकार से असम का नक्शा बदला, शांति स्थापित की, माहौल ठीक किया, विकास की गंगा बहाई, वो इतिहास आपके सामने है, मुझे कहने की आवश्यकता नहीं है, मुझसे ज्यादा तो आप जानते हैं और फिर अचानक ही जिस प्रकार से धोखा देकर के सरकार के अपने लोग जो थे वो चले गए अपने स्वार्थ से निजी स्वार्थ से और उसके बाद में 5 साल का इतिहास भी आप जानते हैं, किस प्रकार से मणिपुर में, गोवा के अंदर, जहां-जहां उनका बस चला वहां-वहां जिस प्रकार से मेज्योरिटी किसी पार्टी की थी, सरकार किसी की बन गई, कर्नाटक में, मध्यप्रदेश में देख लिया आपने कि वहां क्या हुआ। तो आजादी के बाद में पहली बार ऐसे लोग आए हैं सत्ता में आरएसएस और बीजेपी के जो फासिस्ट लोग हैं, जिनका कोई यकीन नहीं है लोकतंत्र के अंदर, लोकतंत्र का मुखौटा पहने हुए हैं और शासन कर रहे हैं और यही कारण है कि आज हॉर्स ट्रेडिंग के माध्यम से जिस प्रकार से सरकारें बदलने का जो सिलसिला शुरू हुआ है, वो डेमोक्रेसी खतरे में हो गई देश के अंदर, राजस्थान में क्या हुआ, आपको सबको मालूम है, पर आप सबकी दुआओं से सरकार वहां पर कायम है। तो ये लंबा इतिहास जो देश में बन रहा है, आज सबसे अमीर पार्टी दुनिया की वो भारतीय जनता पार्टी बन गई है क्योंकि नोटबंदी- डिमोनिटाइजेशन के बाद में जिस प्रकार से इलेक्टोरल बॉन्ड आए हैं, हमें उम्मीद थी कि सुप्रीम कोर्ट कोई फैसला करेगा, रोक लगाएगा, परंतु एकतरफा, 95 पर्सेंट से ज्यादा पैसा बीजेपी इकट्ठा कर रही है, इंडस्ट्रियलिस्ट्स पर दबाव देकर कर रही है और बॉन्ड ऐसी चीज है जो किसी को मालूम ही नहीं हो कि कौन किसको क्या दे रहा है। उन हालातों के अंदर देश चल रहा है, ये बहुत चिंता का विषय बना हुआ है देश के लिए, एकतरफा साधन उनके पास में हैं, इसलिए मैंने कहा कि पूरे वर्ल्ड की सबसे अमीर पार्टी बीजेपी आज है और धन-बल के आधार पर राजनीति कर रही है सरकारें बदलने का भी, हॉर्स ट्रेडिंग का भी, वो आप खुद देख रहे हो कि क्या-क्या हो रहा है। बंगाल में क्या हो रहा है, असम में क्या हो रहा है, बंगाल में 2 महीने से जिस प्रकार से, जिस प्रकार के धन के प्रदर्शन से भौंडे प्रदर्शन से सरकार को बदलने का, कैप्चर करने का नाटक हो रहा है। तो मैं आपको ये ही कहना चाहूंगा कि हालात ये हैं कि आज चारों ओर से जो दबाव है चाहे ज्यूडीशियरी हो, चाहे सीबीआई हो, चाहे इनकम टैक्स हो, चाहे ईडी हो, चाहे इलेक्शन कमीशन ही क्यों नहीं हो, सब पर दबाव हो गया है, ये डेमोक्रेसी में कभी होता नहीं है। इसलिए आज सरकार से जो असहमत हैं या क्रिटिसाइज कर देता है सरकार को, आलोचना कर देता है, वो देशद्रोही है। आपके पत्रकार, एक्टिविस्ट्स, एनजीओ वाले कई जेल में बैठे हुए हैं देश के अंदर। आज टेलीफोन- मोबाइल से कोई बात नहीं कर पा रहा है, देश के अंदर लोग कहते हैं भई आप व्हाट्सएप पर बात कर लो हमसे या फेस टाइम पर बात करो, ये इस माहौल में देश आज चल रहा है और 5 राज्यों में चुनाव हो रहे हैं, तो वहां तमिलनाडु, पुडुचेरी और केरल में तो मैं समझता हूं कि बीजेपी का कुछ होने वाला नहीं है और असम में और बंगाल के अंदर वो पूरी शक्ति झोंके हुए हैं। वहां पर पूरा यकीन है कि दोनों जगह बीजेपी की सरकार नहीं बनने वाली है, बंगाल में नहीं बनने वाली और असम में सरकार कांग्रेस ही बनाएगी, हमें पूरा यकीन है। मैं देख रहा हूं, जबसे मैं दोपहर में आया हूं, लोगों का मिलना-जुलना, जो कार्यकर्ताओं में उत्साह है, लगता है कि यहां सरकार कांग्रेस की बनेगी। तो संक्षिप्त में बात यही है कि हम अपील करना चाहेंगे असमवासियों से कि ये असम के भी इंटरेस्ट में है और असम का, बंगाल का मैसेज जाएगा पूरे देश के अंदर तो जो इनकी फासिस्टी सोच है और जो इनका अप्रोच है, उसपे झटका लगेगा इनको कि जनता समझ चुकी है इनकी चालों को। इनकी चाल, चरित्र और चेहरा बीजेपी का, बड़े गर्व करते थे उनकी पोल खुल चुकी है और पूरी तरह एक्सपोज हो रहे हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का खुद ग्राफ नीचे आ रहा है, ऐसा माहौल देश में बन चुका है। मैं उम्मीद करता हूं कि बंगाल और असम में लोग बहुत समझदार हैं, समझते हैं कि देश में क्या हो रहा है, देश के हित के अंदर वो कांग्रेस को सपोर्ट करेंगे और बीजेपी को एक सबक सिखाएंगे, मुझे विश्वास है, धन्यवाद।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply