IMG 20210313 WA0034

कोरोना संक्रमण के संकटकाल में ‘वारियर्स’ की तरह काम किया जलदाय विभाग के कार्मिकों ने-डॉ. कल्ला

0
(0)

होली स्नेह मिलन और जिला सम्मेलन आयोजित

बीकानेर, 13 मार्च। राजस्थान पीएचईडी तकनीकी कर्मचारी संघ और राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी संघ का होली स्नेह मिलन और जिला सम्मेलन समारोह शनिवार को एमएम ग्राउंड के पास आयोजित हुआ।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ऊर्जा तथा जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला थे। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जलदाय विभाग के कार्मिकों ने ‘कोरोना वारियर्स’ की भांति काम किया और आमजन तक निर्बाध पानी उपलब्ध करवाया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार, प्रत्येक नागरिक तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने के लिए संकल्पित है। विभाग द्वारा गर्मी और नहरबंदी के मद्देनजर कंटीजेंसी प्लान तैयार किया गया है। इसमें शहरी, ग्रामीण और नहरबंदी क्षेत्रों के लिए विशेष प्रावधान हैं। नहर बंदी प्रभावित क्षेत्रों के लिए 24.82 करोड रुपए स्वीकृत किए गए हैं। इसके अलावा अतिरिक्त मुख्य अभियंता स्तर नलकूप, हैंडपंप तथा पाइपलाइन मरम्मत आदि कार्यों के लिए भी राशि स्वीकृत की गई है।

बूंद-बूंद पानी संरक्षण की अपील

इस अवसर पर जलदाय मंत्री डॉ. कल्ला ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि हमें बूंद बूंद पानी का संरक्षण करना होगा।
डॉ कल्ला ने कहा कि पीएचईडी के कर्मचारियों की वाजिब मांगों पर सकारात्मक तथा त्वरित कार्यवाही की जाएगी। साथ ही विभाग में जल्द ही रिक्त पदो की भर्ती की जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा हाल ही में पेश किए गए बजट में राज्य के लिए 8 हजार नए हैंडपंप तथा दो हजार नए नलकूप की स्वीकृति दी।बीकानेर में विभाग द्वारा 600 करोड़ रुपए से अधिक राशि के कार्य करवाए जा रहे हैं। इनमें में दो बड़े जलाशय तथा नई टंकियों का निर्माण होगा। इससे अगले 40-50 साल तक शहर में पानी की कमी नहीं रहेगी।
राजस्थान तकनीकी कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष संतोष विजय ने अभियन्ताओं की पदोन्नति के लिए जलदाय मंत्री का आभार जताया तथा शेष पात्र कार्मिकों की शीघ्र पदोन्नतियां करने का आग्रह किया।
राजस्थान तकनीकी कर्मचारी संघ के प्रदेश महामंत्री जय गोपाल जोशी ने स्वागत उद्बोधन दिया और कहा कि गर्मी और नहर बंदी के दौरान पीएचईडी के कर्मचारी पूर्ण समर्पण के साथ काम करेंगे और जल वितरण में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आने देंगे। उन्होंने जलदाय मंत्री से प्रदेश में तकनीकी कर्मचारियों की भर्ती करने और कार्मिकों की वेतन विसंगति दूर करने की मांग की।
जलदाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य अभियंता दिलीप गौड़ ने कहा कि पीएचईडी के कार्मिक गर्मियों के दौरान टीम भावना के साथ काम करें, जिससे आमजन को तकलीफ न हो।
जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता दीपक बंसल ने कहा कि सभी कार्मिक पूरी क्षमता के साथ काम करें। उन्होंने बताया कि शहर के अंदरूनी भागों में नहर बंदी के दौरान पानी की समस्या ना आए इसके लिए नए जल स्त्रोत बनाए जा रहे हैं।
इस अवसर पर माँ शारदे कला संस्थान की ओर से गीतों की प्रस्तुति दी गई। कार्यक्रम का संचालन रोहित बोड़ा ने किया। कार्यक्रम में प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से आए कार्मिक मौजूद थे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply